जेएटीएफ की कोशिशों से इस साल यूपीएससी में २६ जैन ६ आइएएस,...

जेएटीएफ की कोशिशों से इस साल यूपीएससी में २६ जैन ६ आइएएस, ५ आइपीएस और ४ आइआरएस बने

SHARE

मुंबई। जितो एडमिनिस्ट्रेटिव ट्रेनिंग फाउंडेशन (JATF) जो जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गनाईजेशन (जीतो) की सहयोगी संस्था है। जेएटीएफ के इस साल २०१७ की यूपीएससी परीक्षा में कुल २६ जैन परीक्षार्थीयों ने सफलता हासिल की। जेएटीएफ के चेयरमेन सुभाषचंद्र रुणवाल ने बताया कि कुल ५१ परीक्षार्थीयों में से २६ का चयन होना अपने आप में बहुत बड़ी सफलता है। इन २६ में से ६ भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), ५ भारतीय पुलिस सेवा (IPS), ४ भारतीय राजस्व सेवा (IRS) १ भारतीय विदेश सेवा (IFS) एवं कुल १० यूपीएससी की एलाईड सर्विसेस (UPSC Allied Services) में चयनित हुये है। यह देश भर के समस्त जैन समाज के लिए अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है। जिस पर सभी को गर्व है। जेएटीएफ के चेयरमेन सुभाषचंद्र रुणवाल यूपीएससी में अपने संस्थान के इस गर्व करने योग्य परिणाम से काफी खुश है। उन्होंने इस साल से नये छात्रों को और नई सुविधाएं देने के बारे में जानकारी देते हुए आशा व्यक्त कि हैं कि आने वाले समय में यूपीएससी में अपने समाज के और ज्यादा संख्या में परीक्षार्थी चयनित होंगे। प्रशासनिक सेवाओं में रुचि रखने वाले छात्रों के विकास के लिए बारे में जेएटीएफ द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में चर्चा करते हुए चेयरमेन सुभाषचंद्र रुणवाल ने जानकारी दी की। उन्होंने बताया कि फिलहाल देश में जेएटीएफ के कुल ६ हॉस्टल है। जिनमें से दिल्ली में २ और जयपुर, पुणे, चैन्नई एवं इंदौर में एक-एक हॉस्टल है। दिल्ली के दोनों हॉस्टल की क्षमता १७० है जबकि दिल्ली प्रशासनिक अध्ययन का सबसे बड़ा सेंटर है। रुणवाल की मुताबिक दिल्ली हॉस्टल का विस्तार करते हुए इसकी क्षमता २८० की जा रही है। ताकि आने वाले समय में ज्यादा छात्रों को प्रशासनिक अध्ययन की सुविधा मिल सके। जेएटीएफ के प्रेसिडेंट सुरेश मुत्ता एवं जनरल सेक्रेटरी नरेन्द्र मेहता ने इस बार चयनित सभी परीक्षार्थीयों को सफलता की बधाई दी है।