आमिर खान का संकल्प सूखा मुक्त महाराष्ट्र

आमिर खान का संकल्प सूखा मुक्त महाराष्ट्र

SHARE

मुंबई। आमिर खान फिल्मी दुनिया में मिस्टर पर्फेक्शनिस्ट के नाम से जाने जाते हैं। माना जाता है कि अगर आमिर खान किसी प्रोजेक्ट से जुडे तो उसमें कुछ खास जरूर होगा। आमिर खान का यह जज्बा सिर्फ फिल्मों तक ही सीमित नहीं है बल्कि अपने टी. वी. शो सत्यमेव जयते द्वारा भी उन्होंने कई सामाजिक मुद्दों को उठाया जिन्हें सब जानते हैं, पर मानते नहीं। आमिर खान मानते हैं समाज की संरचना और प्रगति हमारे ही हाथों में हैं। इसी सोच को आगे बढ़ाते हुए आमिर खान व उनकी पत्नी श्रीमती किरण राव ने पानी फाउंडेशन नामक एनजीओ की स्थापना की जो महाराष्ट्र के सुखा-पीडि़त गांवों में गांववासियों को पानी के बचाव व वोटर शेड (जल संभर) द्वारा गांव में जलपूर्ती के तरीके सिखाती हैं।

aamir khan-paani1अपने मित्र मुंबई निवासी पाली (राज.) के युवा उद्योगपति महावीर जैन के आग्रह पर आमिर खान पिछले दिनों मोतीलाल ओसवाल टॉवर में विभिन्न हस्तियों के समक्ष अपनी फाउंडेशन के विजन और कार्यों को पेश किया। इस अवसर पर मोतीलाल ओसवाल, पानी फाउंडेशन के सीईओ सत्यतीत भटकल, एक्जीम चेयरमैन माथुरजी, देना बैंक चेयरमैन अश्विनी कुमार, भारतीय जैन संघटना से प्रफुल पारिख, श्री अग्रवाल और सुरेन्द्र जैन मौजुद थे। इनके अलावा जैन समाज के वरिष्ठ उद्योगपतियों ने भी शिरकत की जिनमें सुभाषचंद्र रूणवाल, प्रकाश बी. जैन, संजय डांगी, पृथ्वीराज कोठारी, सुखराज नाहर और राजेश जैन शामिल थे। आमिर खान द्वारा बताया गया कि किस तरह पानी फाउंडेशन हर गांव में एक विकेन्द्रकृत जल संभर (Decentralized water shed) बनाने के लिए लोगों को जागृत और पशिक्षित करते हैं। उनका उद्देश्य है कि गांव वासियों को इससे जोड़े और इसे एक जन आंदोलन बनाकर महाराष्ट्र को एक सुखा-रहित राज्य बनाने की ओर कदम उठाए। पानी फाउंडेशन के कार्यों को सराहते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने भी अपना पुरा समर्थन देने का वादा किया है। मुख्यमंत्री ने पहले ही जल मुक्त शिविर द्वारा महाराष्ट्र के गांवों में काफी राहत पुहंचाई थी और पानी फाउंडेशन भी लोगों को पानी बचत और उपायोग में आत्मनिर्भर बनाने का कार्य कर रहा है। पानी फाउंडेशन का मुख्य केन्द्र हैं श्रमदान। आमिर खान के अनुसार लोगों को जात-धर्म से उपर उठकर, एकत्र होकर अपने गांव की समस्या को दूर करना होगा। इसको अंजाम देने के लिए पानी फाउंडेशन ने एक अनूठी प्रतियोगिता की शुरूआत की जिसमें हर गांव से प्रतिनिधियों को पानी फाउंडेशन सेंटर में ट्रेनिंग के लिए आते हैं। पानी फाउंडेशन गोंवों को कोई फंड नहीं देता। वह उन्हें स्वयं एकत्रित कर उपयोग में लाना होता है। इसी के जरिए पूरे गांव की सहभागिता निश्चित की जा सकती है। प्रयोग के तौर पर किए गए इस प्रतियोगिता में पिछले वर्ष तीन गांवों में १०००० लोगों को प्रतिदिन श्रमदान के जरिए १३६८ करोड़ लिटर पानी जमा किया (जिसका वार्षिक शुल्क करिब २७२ करोड़ आंका जा सकता है) इस वर्ष पानी फाउंडेशन ३० तालुकाओं के २००० गांवों में यह प्रतियोगिता शुरू करेगा जो ८ अप्रैल २०१७ से २२ मई २०१७ तक चलेगी और विजेता को सत्यमेव जयते वॉटर कप स नवाजा जायेगा।

aamir khan

अगले ३-४ वर्षों में करीब पूरे महाराष्ट्र के ४५००० गांवों को सूखा मुक्त करने का संकल्प हैं। इस अवसर पर आमिर खान ने बताया कि पानी फाउंडेशन सिर्फ लोगों को प्रशिक्षित कर उन्हें आत्मनिर्भर करने की कोशिश करता है।

परंतु श्रमदान के साथ-साथ मशीनों की भी जरूरत होती है जिन्हें कोई भी सीधे ग्राम पंचायत के जरिए गांवों को सहयोग में प्रदान कर सकते हैं। उन्होंने आए हुए सभी मेहमानों से निवेदन किया कि वे इस मुहिम में अपना सहयोग दे और पानी फाउंडेशन के संदेश को आगे भी पहुंचाए।