कनकराज लोढ़ा पुन: अध्यक्ष निर्वाचित

कनकराज लोढ़ा पुन: अध्यक्ष निर्वाचित

SHARE

मुंबई। श्री गोडवाड ओसवाल जैन संघ की वार्षिक साधारण सभा गत दिनों को संस्था हॉल में सम्पन्न हुई। साधारण सभा मे सर्वसम्मति से आगामी कार्यकाल हेतु करतलध्वनि के साथ कनकराज लोढ़ा को पुन: अध्यक्ष चुना गया। इसके साथ ही पूरे सदन ने सर्वसम्मति से बाकी ट्रस्ट मंडल की नियुक्ति का अधिकार कनकराज लोढ़ा को प्रदान किया। कनकराज लोढ़ा ने सदन को बताया कि वे 2 मैनेजिंग ट्रस्टी की नियुक्ति सभा मे ही करना चाहते है और इसकी अनुमति सदन से मांगी। पूरे सदन ने  उनकी बात का सहर्ष समर्थन किया। तत्पश्चात उन्होंने  कनकराज परमार एवम शांतिलाल बोकाडिय़ा को मैनेजिंग ट्रस्टी के पद पर नियुक्ति की घोषणा की। सभी ने तालिया बजाकर इन नियुक्तियों का समर्थन किया। कनकराज लोढ़ा ने सूचित किया कि बाकी ट्रस्ट मंडल के सदस्यों की नियुक्ति 8-10 दिनों में कर देंगे। उसकी अनुपालना में उन्होंने बाद में ट्रस्ट मंडल के बाकी सदस्यों की नियुक्ति करते हुए ट्रस्ट मंडल की  पूरी सूची जारी की जिसमें मैनेजिंग ट्रस्टी: कनकराज सावंतराजजी लोढ़ा (घाणेराव), कनकराज मोहनराजजी परमार (बाली), शांतिलाल देवीचंदजी बोकाडिय़ा (खुडाला), ट्रस्टी: बाबुलाल भुरमलजी मंडलेशा-(मिठीमा)(बाली), घीसूलाल देवीचंदजी मांडोत (सांडेराव), चंद्रप्रकाश उम्मेदमलजी भन्साली (बिरामी), राजेन्द्र फतेहचन्दजी मंडलेशा (नाडोल), भरत हस्तीमलजी राजावत (खुडाला), प्रवीण कांतिलालजी मेहता (मुंडारा) ट्रस्ट मंडल के अलावा विशेष आमंत्रित: सदस्यों में इंदरमल मूलचंदजी राणावत (खुडाला), बाबुलाल मिश्रीमलजी तलेसरा (गुडा एंदला), केवलचंद गणेशमलजी बाफना (घाणेराव), हीराचंद पुखराजजी गुलेच्छा (चाणोद), अगरचंद जवानमलजी जैन (सेवाड़ी) का समावेश हैं। इसके अलावा साधारण सभा ने नए सदस्य बनाने का एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया जिससे ज्यादा से ज्यादा समाज के लोग इस संस्था से जुडक़र संस्था की प्रगति मे योगदान कर सकें। कोलाबा से माहिम तथा कोलाबा से सायन तक के रहिवासी या इस क्षेत्र में व्यवसाय या व्यापार करने वाले सिर्फ मूल गोडवाड क्षेत्र के ओसवाल महानुभाव रु. ५१०० की सदस्यता शुल्क सिर्फ चैंक द्वारा अदा कर आजीवन सदस्य (एक परिवार से एक) बन सकते हैं। १ नवम्बर से सदस्यता हेतु आवेदन पत्र श्री गोडवाड ओसवाल जैन अतिथि भवन, पाजरापोल के स्वागत कक्ष से प्रात: १० से शाम ६ बजे तक प्राप्त किये जा सकते है। जिसको सदस्य बनना है उसे ही सिर्फ एक फॉर्म ही दिया जायगा। सभी से निवेदन है कि ज्यादा से ज्यादा सदस्य बनकर संस्था के विकास में योगदान देवें।