जीतो के निदेशक सुखराज नाहर ने विजेताओं को किया प्रोत्साहित

जीतो के निदेशक सुखराज नाहर ने विजेताओं को किया प्रोत्साहित

SHARE

मुंबई। जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गनाजेशन (जीतो) की महिला इकाई जायका के माध्यम से जैन महिलाओं की प्रतिभा और गुणों सामने लाकर उनके थमे हुए सपनों को नई उडान देगी। जीतो एपैक्स लेडीज विंग की चैयरपर्सन शर्मीला ओसवाल ने जायका नाम से आयोजित राष्ट्रीय पाककला प्रतियोगिता के विजेताओं के सम्मान समारोह में यह घोषणा की है।

जायका के माध्यम से हम बदलना चाहते लोगों की जिंदगी का जायका थमे हुए सपनों को उड़ान देगा जीतो का जायका सांताक्रूज के हाईलाइफ मॉल में आयोजित इस समारोह में उन्होंने कहा कि जायका के माध्यम से हम लोगों की जिंदगी का जायका बदलना चाहते है। यह बदलाव लोगों को जंक फूड से निजात दिलाकर उन तक स्वास्थ्य वर्धक व पौष्टिक खाना पहुचाकर लाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस तरह का आयोजन हर साल किया जाएगा तीनों विजेताओं को ट्रॉफी व मेडेल के अलावा 51 हजार रुपये नकद राशि देकर प्रोत्साहित किया इससे पहले जीतो लेडीज विंग के निदेशक सुखराज नाहर की तरफ से जायका प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर रही हृदया चोरडिया, दूसरे स्थान पर रही नम्रता टाटिया और तीसरे स्थान पर रही मीनल जैन को सम्मानित किया गया, श्री नाहर ने तीनों विजेताओं को ट्रॉफी व मेडेल के अलावा 51 हजार रुपये नकद राशि देकर प्रोत्साहित किया। किचन के रास्ते लोगों के दिल तक पहुंचने के कॉन्सेप्ट को ध्यान में रख कर आयोजित इस प्रतियोगिता में पूरे देश से जीतो के चैप्टर्स की महिलाओं ने हिस्सा लिया।

महिलाओं को धर्मयोगी से कर्मयोगी बनाने के उद्देश्य से आयोजित कार्यक्रम में संगीता प्रदीप राठौड़, विमला मोतीलाल ओसवाल, कलावती पृथ्वीराज कोठारी व मंजू यागनिक, निधि राकेश मेहता सम्मानित अतिथि के रूप में उपस्थित थी। इसके अलावा जीतो एपेक्स की महासचिव सिंधु जैन,सचिव मीनल खोना और सुनीता वोहरा तथा जायका की संयोजक संगीता गन्ना सहित वैशाली बोथरा, सुवर्णा काले, रीता गांधी, अर्चना कोचर, दिपाली बाफना, रूचिका जैन