गोड़वाड़ में इस बार जमकर हुई पशुधन की सेवा

गोड़वाड़ में इस बार जमकर हुई पशुधन की सेवा

SHARE

मुंबई। गर्मियों के सीजन में इस बार गोड़वाड़ के प्रवासी समाजसेवियों ने अपनी मातृभूमि की जमकर सेवा की। पशु – पक्षियों एवं बंदरों की सेवा के लिए गोड़वाड़ जैन जीवदया ट्रस्ट ने गांव गांव चारे पानी की विशेष व्यवस्था की। जाने माने उद्योगपति एवं सेलो ग्रुप के मेनेजिंग डायरेक्टर प्रदीप राठोड़ के नेतृत्व में एक विशेष अभियान के तहत गोड़वाड़ के 48 गांवों एवं ढाणियों में पशु पक्षियों को भीषण गर्मी की मार से बचाने के लिए हजारों टैंकर पानी एवं सैंकड़ो गाड़ी चारे की व्यवस्था की गई। करीब २५००० गायों की इस दौरान सेवा की गई। विशेषकर जीवदया के क्षेत्र में उनका खास सहयोग रहा है। उल्लेखनीय है कि इस बार गर्मी के सीजन में तापमान पिछले कई सालों के मुकाबले बहुत बढ़ गया था। गोड़वाड़ इलाके में 49 डिग्री सेंटीग्रेड़ तक तापमान पहुंच गया था। तेजतर्रार उद्योगपति प्रदीप राठोड़ एडवांस स्टड़ी के साथ एडवांस प्लानिंग जरिए हर काम को सफल बनाने के लिए विख्यात हैं।  राठोड़ को इस बात का अंदाजा था। इसीलिए इस बार भी जब गरमी की शुरूआत हुई, तो  मई महीने की शुरूआत में ही प्रदीप राठोड़ के नेतृत्व में गोड़वाड़ जैन जीवदया ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने गांव गांव चारे पानी की विशेष व्यवस्था का जिम्मा अपने सर उठा लिया। फिर तो मई के मध्य और पूरे जून महीने तक गोड़वाड़ में भले ही गर्मी का पारा 42 से 49 के बीच रहा हो, फिर भी गांव गांव चारा और पानी पहुंचा और पशुधन की जमकर सेवा हुई। होगा। गोड़वाड़ जैन जीवदया ट्रस्ट के इस बार के अभियान को सफल बनाने में प्रदीप राठोड़ के साथ प्रवीण धोका, गोविंद व्यास सहित बाबूभाई मंडलेशा का भी सहयोग रहा। इस मुहिम को जमीनी स्तर पर सफल बनाने एवं पूरी योजना को गांव गांव पहुचाने में संपर्क सूत्र के रुप में नरेश ओझा एवं सभी ग्रामवासियों का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

गोड़वाड़ जैन जीवदया ट्रस्ट ने इसी अभियान के तहत जाने माने उद्योगपति प्रदीप राठोड़ के नेतृत्व में सादड़ी, घाणेराव, मुंडारा, कोट, लाटाड़ा, सेवाड़ी, बाली, खुडाला, फालना, खिमेल, दूजाणा, चाणोद, वरकाणा, सांडेराव, कोसेलाव, नारलाई, मांडीगढ़, जाटों का गुड़ा, राजपुरा, मादा, सिंदरली, दूदापुरा, काणा, गुढ़ा भोपसिंह, बलाणा, जवाली, धणी, बिजोवा, जूना पादरला व आसपास के छोटे गांवों – ढाणियों में चारे व पानी की व्यवस्था की गई। ज्ञात हो कि दूरदृष्टा के रूप में विख्यात प्रदीप राठोड़ ने इस योजना को लागू करने से पहले अपनी टीम के साथ  गोड़वाड़ इलाके का दौरा करके हालात देखे  तो पशुधन की परेशानी देखकर उनका मन पसीज गया और तभी उन्होंने प्रण कर लिया था कि इस बार गर्मी के सीजन में गोड़वाड़ का एक भी पशु चारे पानी की कमी की वजह से परेशान नहीं होना चाहिए। इसी का तहत गोड़वाड़ में इस बार पशुधन की इतनी सेवा हुई कि वहां के किसान, ग्रामीण व गौशालाओं के संचालक प्रवासियों का सेवा भाव देखकर दंग रह गए।

गोड़वाड़ जैन जीवदया ट्रस्ट को दानदाताओं ने दिल खोलकर की सहायता

घीसूलाल धनराजजी बदामिया (सादडी), श्रीमती शांताबेन पुखराजजी रतनपारिया चोहान (सादडी), मगनलाल मूलचंदजी मेहता (सांडेराव), भूरमल वनेचंदजी जैन (कोसेलाव), केसरीमल लुंबाजी जैन (बांकलीवाला), शंकरलाल मूलचंदजी साकरिया (सांडेराव), श्रीमती मानसीबेन भूरमलजी जैन, (कोसेलाव), स्व. भूरीबाई केसरीमलजी कामदार (कोट), फूलचंद फौजमल ट्रस्ट (सादडी), पन्नालाल वगतावरमलजी राणावत (दुजाना), प्रेमराज फुटरमलजी बाफना (सादडी), कनकराज सावतराजजी लोढ़ा (घाणेराव), खुबीलाल जुगराजजी राठौड (सादडी), चंदनमल हस्तीमलजी पारेख (खिमेल), चंदनमल मगराजजी परमार (खुडाला), चांदमल राठौड (सादडी), चंदू मूलचंदजी शाह, (जवाली), फतेचंद मूलचंदजी शाह ( जवाली), गिरीश सतीशचंद्रजी बागरेचा (बाली) इंदरमल मूलचंदजी राणावत (खुडाला), जे. बी. जैन (सांडेराव), जगदीशकुमार जीवराजजी चौपड़ा (बाली), जुगराज कांतिलाल एण्ड कंपनी (घाणेराव), केसरीमल जीवराजजी फागणिया, (मुंडारा), सीए खुबीलाल राठौड (सादडी), किशोर जयचंदजी बाफना (सादडी), माणिकलाल मूलचंदजी शाह (जवाली), मनोहरराज सावंतराज मेहता (धनला), मोहनलाल चंदनमलजी नाहर (सादडी), मोतीलाल मूलचंदजी शाह (जवाली), नगराज कुंदनमलजी मेहता (सादडी), नरेन्द्र प्लास्टिक प्रा. लि. (मुंबई), पारस गुंदेचा (घाणेराव), रतनचंद जीवराजजी ओसवाल (आना), सुरेश मोहनजी बाफना (सादडी/यूएसए), विनोद रांका (सादडी), श्रीमती कंकुबेन नथमलजी रांका (सादडी), श्रीमती ललिता अशोकजी बस्तीमलजी सिरोया (बाली/दुबई), श्रीमती मिठीमां मंडलेचा परिवार (बाली), श्रीमती पद्मा एण्ड भरत शाह, (मरीन ड्राइव-धना), श्रीमती भाग्यवंतीबेन बस्तीमलजी चोपड़ा (बाली), श्रीमती कंचनबेन फतेचंदजी रांका (सादडी), श्रीमती कन्याबेन पुखराजजी एवं चंचलबेन मोहनलालजी (बाली), श्रीमती रतनबेन बस्तीमलजी कालुरामजी राठौड, (बाली), श्रीमती सरसोबेन हरकचंदजी कोठारी, (बाली), श्रीमती शांताबेन केसरीमलजी जैन कश्यप टूर (पालडी/सुमेरपुर)।