धर्मनगरी नाडोल में प.पू. साध्वी श्री पद्मायशाश्रीजी म.सा. (पवन म.सा.) का भव्य...

धर्मनगरी नाडोल में प.पू. साध्वी श्री पद्मायशाश्रीजी म.सा. (पवन म.सा.) का भव्य चातुर्मास प्रवेश १३ जुलाई को

SHARE

नाडोल। अरावली की गोद में बसी धर्मनगरी नाड़ोल में कुल दिपिका परम पूज्य साध्वी श्री पद्मयशाश्रीजी म.सा. और प.पू. साध्वी श्री मुक्तियशाश्रीजी म.सा. आदि ठाणा का भव्य चातुर्मास प्रवेश १३ जुलाई को होगा। चातुर्मास को ऐतिहासिक बनाने के लिए श्री जैन श्वेतांबर देवस्थान पेढ़ी, श्री जैन संघ एवं ट्रस्ट मंडल, श्री चातुर्मास समिति एवं श्री जैन सोश्यल ग्रुप नाडोल के सभी पदाधिकारी एवं सदस्य जोर शोर से जुटे हुये है। इस भव्य चातुर्मास के दौरान आधुनिक विविधलक्षी श्री पद्मप्रभ मानदेव अतिथी भवन के भूमिपूजन एवं शीलान्यास के चढ़ावे भी १३ जुलाई को बोले जायेंगे। जिसमें भूमिपूजन का चढावा, खनन मुहूर्त का चढावा, मध्य शिला का चढावा, पूर्व शिला का चढावा, पश्चिम शिला का चढावा, उत्तर शिला का चढावा, दक्षिण शिला का चढावा शामिल है। उपरोक्त सभी लाभार्थी परिवार की तख्ती भवन में  उचित जगह पर लगाई जायेगी। तख्ती की साईज और नाम की विगत चढावों की जाजम पर दी जायेगी।

अतिथी भवन का भूमिपूजन और शिलान्यास ६ दिसंबर २०१९ को होगा। यह अतिथी भवन अति अत्याधुनिक सुविधायुक्त होगा। चातुर्मास के दौरान आनेवाले सभी त्योंहारों को धूमधाम से मनाया जायेगा। इस बात पोताजी मेहता वास १ एवं बारला वास में आयेंगे। इसी दौरान दो दिवसीय संघ यात्रा १४ एवं १५ जुलाई को श्री सुखधाम, तारंगजी, अंबाजी, श्री कुभारीयाजी तीर्थ यात्रा की जायेगी। इसका संपूर्ण लाभ श्रीमती गुलाबीबाई धनराजजी धनरेशा परिवार ने लिया है। १६ जुलाई के गुरुपुर्णिमा महोत्सव एवं शाही करबा का लाभ श्रीमती दाकूबाई सिरेमलजी संचेती (नाडोल) चेरीटेबल ट्रस्ट ने लिया है। सोने पे सुहागा इसी दिन ट्रस्ट द्वारा नवनिर्मित पंचायत भवन का भी लोकार्पण इसी परिवार द्वारा किया जायेगा।

सभी लाभार्थीयों को बहुमान श्री मांगीलालजी भूरमलजी राजावत राठौड परिवार द्वारा किया जायेगा। साथ ही साथ साधु-साध्वी वय्यावच्च को लाभ श्रीमती हुलासीबेन फुटरमलजी पारेख परिवार द्वारा लिया गया है। चातुर्मास में आयंबिल कराने को लाभ आसुलालजी अनराजजी ऋषभ गोता कोठारी परिवार द्वारा लिया गया है। वहीं चातुर्मास में एकासणा करवाने का लाभ मातुश्री संघवी स्व. ताराबेन जुगराजजी सोनीगरा, संघवी स्व. सायरबाई निहालचंदजी सोनीगरा द्वारा लिया गया है।

जय जिनेन्द्र का लाभ श्रीमती राजीबाई ओटरमलजी जुहारमलजी कोठारी परिवार ने लिया है। श्री जैन श्वेताम्बर देवस्थान पेढ़ी नाडोल के अध्यक्ष राजेन्द्र मंडलेशा ने बताया कि चातुर्मास को ऐतिहासिक बनाने के लिए अलग-अलग समितियों का गठन किया है। इसमें सभी समिति के सदस्य अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे है। मंडलेशा ने कहा कि हमारे कुल दिपिका के चातुर्मास को भव्य बनाने में कोई कसर नहीं छोडी जायेगी। उन्होंने विश्वास जताया कि यह चातुर्मास अपने आप में भव्य और अविस्मरणीय होगा, जिसे लम्बे समय तक याद रखा जायेगा। मंडलेशा ने सभी नाडोल वासियोंसे अपिल की है कि चातुर्मास प्रवेश सहित सभी कार्यक्रम में उपस्थित रहकर गांव की शोभा बढ़ाये।