श्री वरकाणा मित्र मंडल का 11वां स्नेह सम्मेलन सम्पन्न

श्री वरकाणा मित्र मंडल का 11वां स्नेह सम्मेलन सम्पन्न

SHARE

मुंबई। श्री वरकाणा मित्र मंडल का ११वां स्नेहह सम्मेलन रानी स्टेशन निवासी रमेशकुमार मोतीलालजी पटनी व सोजत सिटी निवासी जीवराज वरदीचन्दजी कात्रेला परिवार द्वारा रत्ना रिसॉर्ट, कामसेत (लोनावला) में दो दिवसीय स्नेह सम्मेलन हुआ। लगभग 40 दम्पत्ति एवं विशिष्ट अथितिगणो की गौरवमयी उपस्थिति के साथ सम्पन्न इस सम्मेलन के दौरान विभिन्न प्रतियोगी कार्यक्रमों का आयोजन भी लाभार्थियों द्वारा रखा गया। लाभार्थी परिवारो का अभिनंदन समारोह रिसॉर्ट के बैंकेट हॉल में हुआ। महेन्द्र कोठारी बागोल द्वारा संचालित इस समारोह की शुरुआत नवकार मंत्र के माध्यम से सौ.मीना दिलीप खीमेल ने की। देवराज पुनमिया पिलोवनी एवं छगन परमार इटन्तरा ने ‘वल्लभ गुरु गीतÓ से कार्यक्रम को गति दी।

‘सबसे सुंदर सबसे न्यारा वरकाणा परिवारÓ गीत की संगीतमय प्रस्तुति मनोहर राणावत झीलवाड़ा ने दी, ‘ओ प्रभुजी थोरो चेलों बनूं मैंÓ भक्ति गीतों की शानदार पेशकश अरविंद धनरेशा, रानीगांव ने की। इसके अलावा भरत परमार, रानी स्टेशन, लाभार्थी जीवराज कात्रेला, सोजत सिटी, तथा रमेशकुमार पटनी, रानी स्टेशन ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

कात्रेला एवं पटनी परिवार का अभिनंदन मित्र मंडल के सक्रिय सहयोगी सदस्य देवराज पुनमिया पिलोवनी, महेन्द्र कोठारी बागोल, भूपेन्द्र छाजेड़ डुठारिया, रणजीत नाहर नाड़ोल, छगन परमार इटन्तरा, ललित धनरेशा रानीगांव के अलावा अमृत पुनमिया व मनोहर राणावत ने साफा, चुंदड़ी एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर माल्यार्पण के साथ किया।

विभिन्न सदस्यों द्वारा आगामी वर्षो के स्नेह सम्मेलन की घोषणाएं की, इसी क्रम में गत वर्ष शान्तीलाल सेठिया चेलावास द्वारा आग्रह को स्वीकार करते हुये इस वर्ष उनकी ओर से तीन दिवसीय स्नेह सम्मेलन केरला में 19 से 21 सितंबर 2019 के दौरान आयोजित करने की घोषणा की गई है।

विभिन्न वक्ताओं ने वरकाणा विद्यार्थी जीवन के अनचुहे पहलुओं पर रोशनी डालते हुए भविष्य की रूप रेखा को भी रेखांकित करने का प्रयत्न किया। भरत परमार, दिनेश कोठारी आदि ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए वरकाणा, विद्यावाड़ी आदि शिक्षा संस्थानों में जुडक़र सक्रिय सहयोग में हिस्सेदार बनने का आग्रह किया।

अविस्मरणीय, ऐतिहासिक और मधुर मिलन की सुनहरी यादों एवं वादों के साथ पटनी परिवार एवं कात्रेला परिवार द्वारा आयोजित वरकाणा मित्र मंडल का दो दिवसीय 11 वां स्नेह सम्मेलन मानसिक व आत्मिक आनंद की अनुभूति करवाता हुआ मनमोहक रमणीय दृश्यों से सुसज्जीत शानदार रत्ना रिसॉर्ट कामसेत (लोनावाला) के प्रांगण में सम्पन्न हुआ। सभी भूतपूर्व विद्यार्थीयो ने भीगी पलकों एवं पुनर्मिलन की तड़प को लेकर अपने अपने गंतव्य की ओर भारी मन से प्रस्थान किया।

वरकाणा मित्र मंडल के इस उत्साहवर्धक स्नेह सम्मेलन के आयोजकों की स्वर्णिम श्रृंंखला दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, अब तक वर्ष 2033 तक के नाम आ चुके हैं, अत: सभी आयोजक एवं मित्र मंडल परिवार के सभी सदस्यों की यह राय हैं कि वर्ष की बजाय अर्ध वार्षिक अथवा दो आयोजक संयुक्त रूप से एक वार्षिक स्नेह सम्मेलन का आयोजन करें ताकि यह सूची वर्ष 2025 तक पूरी हो जाये।