मुम्बई महावीरोत्सव सम्पूर्ण भारत में सामाजिक एकता की मिसाल बना

मुम्बई महावीरोत्सव सम्पूर्ण भारत में सामाजिक एकता की मिसाल बना

SHARE

मुंबई मायानगरी में प्रथम बार समस्त मुंबईवासीयो ने मिलकर मनाया मुम्बई महा महावीरोत्सव। श्रद्धेय श्री ब्रह्मचारी देवेंद्र ‘भाई जी’ के वात्सल्यमय मार्गदर्शन में मुंबई मायानगरी में प्रथम बार समस्त मुंबईवासीयो ने बिरला मातोश्री सभागृह में बहुत ही गरिमामय रूप में मनाया।’सामायिक योग संस्थानÓ द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में विश्व के विभिन्न धर्मों के प्रख्यात धर्माचार्यो का ‘सन्त समागमÓ हुआ जिसमें भगवान महावीर के संदेश ‘जियो और जीने दो’ पर अपने विचार रखे और एक स्वर से विश्व में शांति के लिये अहिंसा को एक मात्र साधन बतलाया। जैनधर्म से प.पु आचार्य सागरचंद्र ‘सागरÓ सूरीश्वरजी म.सा., छुल्लक योगभूषण महाराज, मुस्लिम धर्म से इमाम उमेर अहमद इलयासी, बौद्ध धर्म से भन्ते प्रशील रत्न गौतम ने अपने विचार रखे। इसी श्रृंखला में आंतरराष्ट्रीय योग संस्थान की निर्देशिका श्रीमती हंसाजी योगेन्द्र ने सारगर्भित रूप में महावीर की अहिंसा को वर्तमान परिपेक्ष में सबसे अहम बताया। सम्मानीय अतिथि के रूप में उपस्थित विधायक मंगलप्रभात लोढ़ा ने जहाँ अहिंसा को भारत की समस्त मानव जाति को अनुपम देन कहा, केबीनेट मंत्री राज के पुरोहित ने महावीर स्वामी के सिद्धान्तों पर प्रकाश डाला। श्रद्धेय ब्रम्हचारी देवेंद्र ‘भाई जीÓ के सबको जोडऩे के प्रयासों की भूरी भूरी प्रसंशा की। सुप्रसिद्ध कलाकार कुमार चटर्जी, जैन भजन गायक संदीप बोहरा (अजमेर) द्वारा संगीतमय भक्ति गीतों से सुसज्जित इस कार्यक्रम में ‘भगवान के पालना झुलानेÓ के साथ ही 1008 दीपों से आरती भी की गई। इस अवसर पर श्रद्धेय ब्रम्हचारी देवेंद्र ‘भाई जीÓ कहा कि जैन धर्म के सिद्धांत सम्पूर्ण जगत के समस्त जीवों को जीवन जीने की राह दिखाते है, इसे केवल जैन कुल में जन्म लेने वालों तक ही सीमित नही रखना है, इसकी आवश्यकता समस्त मानव समाज के लिए है। इस प्रकार के कार्यक्रमों के माध्यम से सबको जोडक़र भाईचारा स्थापित किया जा सकता है। कार्यक्रम के समारोह अध्यक्ष मोतीलाल ओसवाल एवं स्वागत अध्यक्ष के.सी.जैन ‘सीएÓ, समारोह गौरव आईएसजी जैन ने इस कार्यक्रम को मील का पत्थर बताया। इस कार्यक्रम में समाज के कई गणमान्य लोग उपस्थित थे। जिनमें विजय कुमार जैन (जिनागम फाउंडेशन) सी. सी. डांगी, सोहनलाल कलावत (उदयपुर), किशोर खाबिया, मनीष मेहता (नागपुर), भागचंद सेठी (सीकर), सतीश सुराणा, रिजवान आदित्य (उत्तर अफ्रीका) सुनील जैन (जयपुर), सुदर्शन डांगी, सिद्धराज लोढ़ा, बाबूलाल जैन, रूपेश शाह, प्रशांत जवेरी, बाबूलाल मेहता, कांति मेहता, राजेश श्रीवास्तव, राकेश, मनमोहन जैसवाल, अंकेश जैन, महिला मंडल से रूचिका सुराणा, कोकिला जवेरी, पूनम विनायक, अल्फा जैन, कन्या मंडल से पूजा जैन, प्राची जैन, मिताली जैन, किरण जैन, दिव्यांशी जैन, श्री पाश्र्वनाथ नवयुवक मंडल गुलालवाड़ी से कुमार बोहरा, कौशल गांधी, भरत विसाकिया, पारस हेमाबत, दिनेश गुनावत उपस्थित थे। कार्यक्रम का सफल संचालन लवकेश जैन ट्रस्टी ‘सामायिक योग संस्थानÓ ने किया। अपनी ओजस्वी शैली से किया।

जैन भजन गायक संदीप बोहरा की भजन सी.डी. ‘जैनों के प्रभू वीर नहीं है’ का विमोचन मंचासीन अतिथियो ने किया। श्रद्धेय ब्रहमचारी श्री देवेन्द्र भाई जी ने कहा की मुम्बई में यें कार्यक्रम जरुर पहला हो सकता है, लेकिन एक नया अध्याय प्रारंभ हो चुका है। मुम्बई महावीरोत्सव का कार्यक्रम हर वर्ष आयोजित किया जाएगा, ताकि पूरे भारत वर्ष में भगवान महावीर की वाणी का प्रचार हो सके। मुम्बई के न केवल सकल जैन संघ, वरन विभिन्न धर्मावलम्बियों के संघो के शामिल होने से  इस कार्यक्रम की जन जन में चर्चा है।