भोला भैरव भक्ति मंडल द्वारा नोटबुक का वितरण २ जून को

भोला भैरव भक्ति मंडल द्वारा नोटबुक का वितरण २ जून को

SHARE

भायंदर। भोला भैरव भक्ति मंडल के तत्वावधान में हर साल की तरह इस साल भी मीरा भायंदर के उन गरीब विद्यार्थियों को नि:शुल्क नोटबुक वितरित की जाएगी जो सरस्वती हाई स्कूल, अभिनव विद्या मंदिर स्कूल, मां भारती विद्यापीठ स्कूल, बांदरवाडी हाई स्कूल, मॉर्डन हाई स्कूल, पूनम नर्सरी एण्ड प्ले स्कूल, गोल्डन नेस्ट इंग्लीश हाई स्कूल, नेशनल हाई स्कूल एन्ड जुनियर कॉलेज, डिवाईन हीम हिन्दी स्कूल, सेन्ट सोल्जर पब्लिक स्कूल, केवी नेरावत हाई स्कूल, होली ट्रीनीटी इंग्लीश स्कूल, इन्फट जिसस इंग्लीश् स्कूल, सेन्ट फ्रॉसीस हाई स्कूल, होली एन्जल इंग्लीश हाई स्कूल, एस.एम. पब्लिक स्कूल, फादर जोसफ हाई स्कूल, ललित विद्या निकेतन एवं श्री साई बाबा हिन्दी स्कूल में पढऩे वाले छात्रों को ही उपलब्ध कराई जा रही है। भोला भैरव मंडल के अध्यक्ष राकेश लोढ़ा अनुसार हमारी संस्था का मुख्य उद्देश्य यह सुविधा जरुरत मंद छात्रों को उपलब्ध हो इसीलिए चुनिंदा स्कूलों का समावेश किया गया है।

शुरुआती साल में ५०० दर्जन मुफ्त नोट बुक वितरण से शुरु हुई यह योजना अब-जब ८वें साल में प्रवेश कर रही है तो ३००० दर्जन तक पहुंच चुंकी है। इसका श्रेय लोढ़ा ने उन दान दाताओं को दिया जिन्होंने भोला भैरव भक्ति मंडल को सहयोग व समर्थन दिया इसी विश्वास से हम निरंतर ८ सालों से नि:शुल्क नोट बुक वितरण जारी रखे हुए है। सेक्रेटरी मुनेष छाजेड ने बताया कि कक्षा १ से ५ तक के छात्रों को छोटी नोटबुक और कक्षा ६ से बी.कॉम तक के छात्रों को लॉग नोटबुक मिलेगी। इस सुविधा हेतु आवेदन फॉर्म दिए जाएंगे। फॉर्म के लिए ओरिजनल रिजल्ट की कॉपी एवं प्रति फॉर्म रुपए। ५/- अदा करने है। फोर्म २१ से ३० मई को सुबह ९ से १२ बजे के बीच दर्शन ग्राफिक्स, दुकान नं. १, जय इन्द्रप्रस्थ बिल्डींग, मधु हॉस्पीटल की गली, अमर डेरी के पास, ६० फीट रोड, भायंदर (वेस्ट) से प्राप्त किए जा सकते है। इस संबंध में अधिक जानकारी हेतु राकेश सुराणा – ७६६६२११२११, अजित छाजेड़ – ९३२३३६७००९, दिक्षीत जैन – ९८२०२१६७४४, हेमंत मेहता – ९९३०८३६४०७, मनोज ए. चौपड़ा – ९३२४५५०७१३ से संपर्क सकते है। इस वर्ष नोट बुक वितरण के संयोजक और मंडल के सक्रिय सदस्य मुकेश मेहता ने बताया कि इस समारोह में मीरा-भायंदर की सभी नामी -गिरामी हस्तीयों को निमंत्रण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि स्कूलों के साथ साथ मिरा-भायंदर के अनाथ आश्रम में भी नोटबुक  दी जायेगी।