कोसेलाव में चातुर्मास का आयोजन यादगार रहा

कोसेलाव में चातुर्मास का आयोजन यादगार रहा

SHARE

कोसेलाव। श्री जैन संघ कोसेलाव के तत्वावधान में पूज्य श्रमणीवर्याओं साध्वी श्री सूर्यमालाश्रीजी म.सा. की सुशिष्या साध्वी श्री अमीतमाला श्रीजी म.सा., साध्वी श्री मोक्षमालाश्रीजी म.सा. एवं गांव की कुलदीपिका साध्वी श्री सम्यक्कला श्रीजी म.सा., साध्वी श्री मैत्रीमाला श्रीजी म.सा. का भव्य चातुर्मास संपन्न हुआ। चातुर्मास के मुख्य लाभार्थी शा. ओटरमलजी लादुरामजी शेठिया परिवार थे। पूज्य श्री की पावन निश्रा में सायरबेन ओटरमलजी लादूरामजी शेठिया के जीवित महोत्सव एवं तप अनुमोदना शा. ओटरमलजी लादुरामजी शेठिया धर्मपत्नी सुश्राविका सायरबेन ओटरमलजी शेठिया का जीवित महोत्सव एवं उनकी विविध तपश्चर्या निमित्त उद्यापन एवं त्रिदिवसीय महोत्सव का आयोजन उजमणा सहित मनाया गया। चातुर्मास के दौरान ‘माँ का कलेजाÓ कार्यक्रम, श्री नेमीनाथ भगवान का जन्मकल्याणक महोत्सव, स्नात्र महोत्सव सामुहिक पूजा सहित वामा माता थाल महोत्सव नाटिका के रुप में मनाया। श्री गौतमस्वामी पूजन, गौतमलब्धि तप, नमस्कार महामंत्र अखंड अभिषेक सहित प.पू. महान तपस्वी साध्वी अमितमाला श्री म.सा. की ५४वीं वर्धमान तप ओली के पारणे का आयोजन पर त्रिदिवसीय जिनेन्द्र भक्ति महोत्सव भी रखा गया। चातुर्मास के दौरान श्रीमती सायरबाई ओटरमलजी शेठिया के सिद्धीतप की महान तपस्या पूर्ण हुई। श्रीमती फेन्सीबेन चांदमलजी की अठ्ठाई तप के साथ अन्य कई तपस्याएं संपन्न हुई।

इस भव्य चातुर्मास को सफल बनाने में चातुर्मास समिति के अध्यक्ष अशोककुमार रतनचंदजी कोठारी, उपाध्यक्ष चम्पालाल चुन्नीलालजी बंदामुथा, सेकेट्री ओटरमल लादुरामजली शेठिया, कोषाध्यक्ष चम्पालाल देवीचंदजी कोठारी, सुकनराज हिम्मतमलजी श्रीश्रीमाल सहित कार्यकारिणी सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा। भोजन व्यवस्था में प्रकाश एफ. कोठारी एवं भैरुलाल ललवाणी का महत्वपूर्ण योगदान रहा।