श्रीमती हंजाबाई गौशाला द्वारा में ३३८ वां पशु चिकित्सा शिविर संपन्न

श्रीमती हंजाबाई गौशाला द्वारा में ३३८ वां पशु चिकित्सा शिविर संपन्न

SHARE

बेड़ा। दया धर्म का मुल है, पाप मुल अभिमान। तुलसी दया ना छोडीये, जब तक घट  में प्राण। यह विचार संस्था अध्यक्ष हस्तीमल जैन ने बेडा गांव की जीवदया प्रेमी श्रीमती पूर्णीमा बेन पिनल कुमार कारसीया द्वारा आयोजित अपने माता-पिता श्रीमती सुखीबाई चन्दुलालजी शाह मगरी वाली (चामुन्डेरी निवासी) के पुष्प स्मृति मे ३ दिवसीय दादा पाश्र्वनाथ जैन तिर्थ जुना बेडा में जिन भक्ति महोत्सव एवं ३ दिवसीय नि:शुल्क पशु-पक्षी शल्य चिकित्सा शिविर में प्रकट किये। संस्था अध्यक्ष हस्तीमल जैन ने आमंत्रित मेहमानों के साथ भगवान का दिप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया एवं पुजा अर्चना की गई। आयोजक परिवार एवं सभी मेहमानों का शाल, माला, साफा पहनकर स्मृति चिन्हं देकर सम्मानित किया। संस्था द्वारा गत २१ वर्षों से राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र सहित अन्य क्षेत्रों में ३३७ पशु शिविर का आयोजन करके १६ लाख से अधिक पशुओं का उपचार किया गया। शिविर को सफल बनाने में हस्तीमल जैन, बाबुलाल साकरीया, इन्दरमल सी. मुठलीया, डॉ. पालीवाल, डॉ. चुनीलाल, चुनीलाल डांगी, अचलाराम, कालू सिंह का सराहनीय योगदान रहा। मंच का संचालन भंवरलाल माली ने किया।