३२वीं पुण्यतिथि पर गुणानुवाद समारोह का आयोजन

३२वीं पुण्यतिथि पर गुणानुवाद समारोह का आयोजन

SHARE

मुंबई। मेवाड़ केशरी नाकोड़ा तीर्थोद्धारक हिमाचल सूरीश्वर म.सा. की ३२वीं पुण्यतिथि पर भांडुप स्थित मेवाड़ केसरी भवन में आयोजित कार्यक्रम यादगार रहा। इस अवसर पर मुनि केवलपूर्ण विजय म.सा. ने कहा कि अपने गुरु के प्रति अपनी संतान को अर्पित कर जिनशासन की सेवा के लिए मार्ग को आगे बढ़ायें। कार्यक्रम का शुभारंभ गुरु वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलन से किया गया। मेवाड़ जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक संघ मुंबई एवं अखिल वोराट जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में मानषी पामेचा के नेतृत्व में बालिकाओं ने गुरुदेव पर सुंदर नाटक पेश कर मन मोह लिया। कार्यक्रम का विशेष आकर्षण सामूहिक दीप आरती रही। लीना सिंघवी, विनोद कोठारी, मनोहर सिसोदिया के मधूर भक्तिमय गीतों पर लोग झूम उठे। कार्यक्रम में मेवाड़, मारवाड़, गोडवाड के भक्तों ने उपस्थिति दर्ज करवाई। आयोजक मंडल द्वारा लाभार्थी परिवार छगनीबाई वक्तावरमल पामेचा परिवार झालों की मंदार, रुपाबेन गणेशमल बाफना परिवार चारभुजा, मोहनीदेवी मगनलाल कोठारी परिवार झीलवाड़ा, चंद्राबाई चांदमल सिंघवी परिवार मजेरा, धर्मचंद, खेमराज कोठारी परिवार रींछेड, मोडीदेवी मोहनलाल कोठारी परिवार मजेरा, कमलाबाई भेरुलाल सिंघवी झालों की मंदार, सज्जनबाई चुन्नीलाल पामेचा परिवार झालों की मंदार, रुक्मिणीबाई भेरूलाल सिंघवी परिवार गांवगुड़ा, पुष्पाबाई भंवरलाल पामेचा परिवार झालों की मंदार, मंजूबाई सोहनलाल कोठारी परिवार झीलवाडा, कमलाबाई राजमल राठौड परिवार मजेरा का अभिनंदन किया गया। अध्यक्ष मोहनलाल पामेचा ने कहा कि गुरुदेव का पूरा जीवन संघ और समाज के प्रति समर्पित रहा, जिसका प्रभाव आज भी हमें दक्षिण राजस्थान और गुजरात में देखने को मिलता है। गुरुदेव के जीवन से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

पामेचा ने सभी कार्यकर्ताओं और संगीतकारों की हौसला अफजाई कर कहा कि अगली पुण्यतिथि पर मेडिकल केम्प लगाया जायेगा। इस दौरान उपाध्यक्ष अशोक बाफना ने गुरुदेव की याद में सामाजिक कार्य का सुझाव दिया। चंदनमल संघवी ने भी विचार रखे। महामंत्री श्रीपाल कोठारी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। नवयुवक मंडल अध्यक्ष अमृत कोठारी ने नवयुवक मंडल कार्यकर्ताओं के साथ उपस्थिति दर्ज करवाई। यह जानकारी किशन सिंघवी ने दी।