आईआईजेएस के 35वें एक्जीबिशन का आयोजन 9-13 अगस्त तक

आईआईजेएस के 35वें एक्जीबिशन का आयोजन 9-13 अगस्त तक

SHARE

 

मुंबई। GJEPC द्वारा आयोजित देश की सबसे बड़ी रत्न और आभूषण प्रदर्शनी IIJS का 35 वां एक्जीबिशन 9 अगस्त से 13 अगस्त, 2018 को बॉम्बे एक्जीबिशन सेंटर, गोरेगांव में आयोजित होगा। इस वर्ष रत्न और आभूषण क्षेत्र में भारत की भूमिका को दर्शाने के उद्देश्य से आयोजित इस शो में कई नयी चीज़ें देखने मिलेगी। जीजेईपीसी द्वारा आयोजित IIJS खुदरा विक्रेताओं, थोक विक्रेताओं, वितरकों और डिजाइनरों की सबसे बड़ी प्रदर्शनी हैं और इस वर्ष लगभग 40,000 घरेलू और अंतरराष्ट्रीय विजिटर्स के आने की उम्मीद जताई जा रही है। इस वर्ष अंतरराष्ट्रीय खरीदारों व विशेष बड़े रिटेलरों और व्यापारियों के लिए 8 अगस्त को एक विशेष प्रीव्यू का आयोजन किया जायेगा जिसके पश्चात प्रदर्शनी पांच दिनों तक चलेगी। भारत के रत्न और आभूषण निर्यात वित्त वर्ष 17-18 में 40972.36 मिलियन अमरीकी डालर का रहा। जीजेईपीसी ने भारत में रत्न और आभूषण निर्यात उद्योग के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। IIJS जीजेईपीसी का प्रमुख शो है, जिसमें हीरे, रत्न, सोने और स्टडेड आभूषणों की बड़ी और विख्यात कम्पनियाँ हिस्सा लेती है। इस साल, शो का मुख्य आकर्षण कंप्यूटर एडेड 3डी विनिर्माण और डिजाइनिंग विधियाँ होंगी है जो प्रदर्शनी में दिखाई जाएँगी। इस बार आयोजन में 1300 से अधिक प्रदर्शक, 2500 से अधिक स्टाल होंगे और 800 से अधिक भारत के कई शहरों और कस्बों से और 80 से अधिक देशों से कुल 40000 से अधिक आगंतुकों के शिरकत करने की उम्मीद है। जीजेईपीसी के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने कहा, पिछले 3 सालों में आईआईजेएस एशिया के अग्रणी आभूषण व्यापार प्रदर्शनी के रूप में विकसित हुआ है। IIJS 2018 में देश के अग्रणी निर्माताओं के 1300 से अधिक प्रदर्शकों द्वारा तैयार किए गए सर्वश्रेष्ठ आभूषण संग्रहों का प्रदर्शन किया जायेगा। इस साल विशेष ध्यान आभूषण निर्यातकों और एमएसएमई निर्माताओं पर भी होगा। IIJS यह भी दर्शाता है कि भारत के आभूषण निर्माण इंडस्ट्री आज विश्व प्रसिद्ध है और नयी तकनीकों के साथ दुनिया भर के खुदरा विक्रेताओं और उपभोक्ताओं की नजऱ में एक विश्वसनीय और प्रतिस्पर्धी स्रोत के रूप में व्यापक रूप से विकसित हुआ है। इस बात पर भी गौर देना चाहिए कि आज के समय में वैश्विक और स्थानीय व्यापार के भागीदारों की बायिंग साइकिल अब IIJS प्रदर्शनी के इर्द गिर्द घुमती है।

शैलेश सांगानी, संयोजक, राष्ट्रीय प्रदर्शनी ने कहा, आईआईजेएस में हर साल हम अपने व्यापारियों और आगंतुकों को बेहतर अनुभव देने की कोशिश करते हैं। इस वर्ष 10800 वर्ग मीटर के साथ हॉल 7 पेश करके, बड़े पैमाने पर प्रदर्शकों और खरीदारों के लिए 800 नए बूथों की सुविधा प्रदान की है। व्यापार के विकास को और भी सुविधाजनक बनाने के लिए, अंतरराष्ट्रीय खरीदारों और प्रदर्शकों के लिए एक ऑनलाइन व्यापार मिलान कार्यक्रम और सेमिनार का भी आयोजन किये हैं। पिछले साल की तरह, जीजेईपीसी प्रील्यूड टू IIJS नामक बी 2 बी आभूषण फैशन शो और एक विशेष कोर्पोरेट सोशल रिस्पोसबिलिटी कार्यक्रम का एक विशेष पूर्वावलोकन कार्यक्रम आयोजित करेगा, जिसमें जीजेईपीसी और उसके सदस्य चैरिटी में रु. 1 करोड़ दान करेंगे। IIJS 2018 में नोलेज सेमिनार का भी आयोजन होगा जहां प्रौद्योगिकी के विशेषज्ञों द्वारा व्यापार के रुझान और विपणन डिजाइन की नयी तकनीकों को पेश करेंगे जिससे व्यापरियों को अपने उद्योग में आसानी होगी। इस आयोजन में थाईलैंड, संयुक्त अरब अमीरात, तुर्की और इटली का विशेष अंतर्राष्ट्रीय मंडप होगा। इसके अलावा, 150 नए प्रदर्शकों और आपूर्तिकर्ता मौजूदा डेटाबेस में शामिल होंगे।