अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन मुंबई द्वारा वैश्य सम्मान समारोह सम्पन्न

अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन मुंबई द्वारा वैश्य सम्मान समारोह सम्पन्न

SHARE

मुंबई। वैश्य समाज की अग्रणी संस्था अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन मुंबई द्वारा हर वर्ष की भांती वैश्य सम्मान समारोह का आयोजन १८.९९ लैटिट्यूड बेक्वेंट हॉल लोअर परेल में भव्य रुप से सम्पन्न हुआ। इस सम्मान समारोह में वैश्य समाज की कई प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। जिसमें समाज सेवा में सुभाष खीमावत, नीधी गोयल, शिक्षा में राजेश झुनझुनवाला, चिकित्सा में डॉ गौतम भंसाली, और श्वेता दीक्षीत मेहता, उद्यमी में महेश सिंघी, खेलकूद में स्नेहल बेंडके, मधुरीका पाटकर (कॉमन वेल्थ गेम्स २०१८ की गोल्ड मेडलिस्ट विनर), सिनेमा में राजेश मापुसकर, प्रशासन में अंकुर आलीया, आभिषेक थरवल एवं पुजा राणावत को सम्मानित किया गया।

समारोह में मुख्य अतिथी महाराष्ट्र सरकार के गृह, वित्त, योजना राज्यमंत्री दीपक केसरकर थे। अतिथि विशेष राज के. पुरोहित मंत्री महाराष्ट्र सरकार, नगर सेवक अतुल शाह, आकाश पुरोहित, मोतीलाल ओसवाल, राकेश मेहता, बाबूलाल गुप्ता थे। समारोह के प्लेटिनम स्पॉन्सर कान्तीलाल पी. शाह (अंशा ज्वेलरी के डायरेक्टर) थे। समारोह के मुख्य वक्ता अशोक अग्रवाल, अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन के अध्यक्ष थे। समारोह की शुरुआत दीप प्रज्वलन से हुई। संस्था के सचिव दिलीप माहेश्वरी ने संस्था की गतिविधीया बताई।

संस्था अध्यक्ष कांतिलाल मेहता ने अपने संबोधन में कहा कि वैश्य समाज बहुत बड़ा समाज है। हमें आर्थिक, राजनीतिक, सामाजिक क्षेत्रों में आगे आकर अपनी ताकत बतानी होगी। देश को डीजिटल भारत बनाना होगा, उन्होंने जोर देकर कहा कि व्यापारी बंधुओं को आने वाले समय के लिए स्वयं को तैयार करना होगा। ओर व्यापार के नये तौर तरीके अपनाकर भविष्यगामी सोच रखनी होगी। हम राजनीति में नहीं के बराबर है। हमें राजनीति में दिलचस्पी लेते हुए आगे आना होगा। समारोह में कवि युगराज जैन ने अपनी हास्य कविताओं से समा बांधा। उनका भी संस्था द्वारा बहुमान किया गया। समारोह में लगभग ६०० वैश्य बधुओं सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारीयों एवं समाज के गणमान्य लोगों ने भी अपनी उपस्थित दर्ज कराई।

कार्यक्रम को सफल बनाने में दिलीप महेश्वरी, कृष्णकांत गुप्ता, कैलाश कावेडिया, अशोक अजमेरा, अनिल पटोदिया, राहुल मेहता, सुकन परमार, आनन्द प्रकाश गुप्ता, माणक मेहता, सीए पिंकी केडिया, राजेन्द गुप्ता सहित संस्था के सभी सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा।