राजस्थान में दो को पद्मा सम्मान

राजस्थान में दो को पद्मा सम्मान

SHARE

अगली बार के लिए खिमावत का नाम भेजे सरकार

मुंबई। इस साल कुल 85 लोगों को केंद्र सरकार पद्म पुरस्कार देगी।  जिनमें से राज्स्थान के केवल दो ही नाम है। एक है नारायण दास महाराज और दूसरे हैं रघुवीर सिंह महाराज। दोनों को पद्मश्री दिया जाएगा। लेकिन दोनों के काम के बारे मे बहुत कम लोग जानते है। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर केंद्र सरकार ने पद्म पुरस्कारों की घोषणा की। नारायण दास महाराज को आध्यात्मिक क्षेत्र और रघुवीर सिंह महाराव को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए राष्ट्रपति द्वारा पद्मश्री अवार्ड प्रदान किए जाएंगे। नारायण दास महाराज तो खैर जयपुर के त्रिवेणी धाम के पीठीधीश्वर हैं एवं उनका सामाजिक विकास के क्षेत्र में बहुत बड़ा आध्यात्मिक योगदान है। लेकिन सिरोही के महाराजा रघुवीर सिंह महाराव ने शिक्षा के क्षेत्र में क्या काम किया यह कोई नहीं जानता।

वैसे, सरकार मरणोपरांत भी कई लोगों को पद्म सम्मान देती रही है। अत: गोड़वाड़ क्षेत्र से पद्म सम्मान के असली हकदार स्वर्गीय किशोर खिमावत को माना जाता है। राजस्थान सरकार को चाहिए अगली बार के पद्म सम्मानों के लिए स्वर्गीय किशोर खिमावत का नाम प्रस्तावित करें। जिन्होंने लाखों पेड़ लगाए, तालाब खुदवाए एवं नदियों मे पानी के स्रोत विकसित करके पर्यावरण के क्षेत्र में देश की बहुत बड़ी सेवा की है।