मनोज भाणावत तुलसी निकेतन के संचालक मनोनित

मनोज भाणावत तुलसी निकेतन के संचालक मनोनित

SHARE

युवा समाजसेवी नरेश परमार पुन: अध्यक्ष

कानोड़। कस्बे के प्रमुख शिक्षण संस्थान तुलसी निकेतन में ३२ साल बाद बड़ा बदलाव हुआ है। साधारण सभा की बैठक में मनोज भाणावत को निर्विरोध संचालक चुन लिया गया। अध्यक्ष पद पर मुंबई के नरेश परमार का जिम्मा यथावत रखा गया है। पूर्व संचालक ८४ वर्षीय शान्तिचंद बाबेल के कार्य करने में असमर्थता के चलते साधारण सभा ने चुनाव तय किए थे। इसे लेकर तुलसी अमृत उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में साधारण सभा की बैठक बुलाई गई, जिसमें मेवाड़-वागड़ सहित मुंबई व गुजरात से भी सदस्य शामिल हुए। वार्षिक प्रतिवेदन पेश करने के बाद निर्वाचन अधिकारी मेवाड़ कॉफ्रेंस अध्यक्ष राजकुमार फतावत ने चुनाव प्रकिया शुरु करवाई सबसे पहले अध्यक्ष पद के लिए प्रस्ताव मांगे गए। सदन ने पूर्व अध्यक्ष नरेश परमार (मुंबई) को ध्वनि मत से वापस यह जिम्मा देने की सहमति दी। संचालक पद के लिए अब तक कोषाध्यक्ष रहे मनोज भाणावत (कानोड़) का नाम प्रस्तावित किया गया। साधारण सभा सदस्यों ने ओम अर्हम कहते हुए भाणावत के लिए भी रजामंदी दे दी। मालाएं पहनाकर निर्वाचित पदाधिकारियों का स्वागत किया गया। अपने संबोधन में भाणावत ने कहा कि यह संस्थान बहुत बड़ा है, जिसे प्रगति देने के लिए साधारण सभा के हर सदस्य का सहयोग अपेक्षित है। परमार ने सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। साधारण सभा ने पूर्व संचालक बाबेल व समाजसेवी सवाईलाल पोखरना का मेवाड स्तरीय सम्मान करने तथा पूर्व संचालक को वाहन व कर्मचारी की सुविधा देने का निर्णय किया। प्राचार्य हेमंत पटेल ने बैठक की कार्यवाही दर्ज की। करीब दो घंटे चली साधारण सभा की बैठक में कन्या महाविद्यालय भवन बनवाने, विद्यालय को सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन से मान्यता दिलवाने, अंगे्रजी माध्यम प्राथमिक विद्यालय भवन बनवाने, विज्ञान एवं कॉमर्स कॉलेज खुलवाने पर भी चर्चा कर निर्णय किए गए। सभा का संचालन ख्यालीलाल बाबेल ने किया।