मुंबादेवी मंदिर अब सरकार के अधीन होगा

मुंबादेवी मंदिर अब सरकार के अधीन होगा

SHARE

राज के पुरोहित की मांग पर सीएम ने की घोषणा

नागपुर। अब मुम्बई शहर की आराध्य देवी मुंबादेवी मंदिर का संचालन भी अन्य मंदिरों की तरह राज्य सरकार करेंगी। विधानसभा में बीजेपी के मुख्य सचेतक व कोलाबा विधायक राज के पुरोहित की मांग पर राज्य के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने विधानसभा में मुंबादेवी मंदिर हस्तगत करने की घोषणा की इसके लिए राज्य सरकार कानून में संशोधन करेगी।

भाजपा विधायक राज के पुरोहित ने मुम्बादेवी मंदिर में व्याप्त भ्रष्टाचार कुप्रबंधन का मुद्दा उपस्थित करते हुए कहा कि जिस तरह पंढरपुर, शिर्डी, कोल्हापुर स्थित महालक्ष्मी मंदिर, सिद्धिविनायक मंदिर का प्रबंधन राज्य सरकार ने हस्तगत किया है, उसी तरह से मुंबादेवी मंदिर का अधिग्रहण करके वहां श्रद्धालुओं के लिए बेहतर नागरी सुविधाएं उपलब्ध कराये। सदन में उन्होंने धर्मादाय आयुक्त के ऊपर रोष जताते हुए कहा कि इस मंदिर में नागरी सुविधाओं के अभाव प्रबंधन के विफल हो जाने और वहां व्याप्त भ्रष्टाचार की शिकायत किये जाने के बावजूद उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने पंढरपुर मंदिर सुधार विधेयक ६१ पर बोलते हुए मुंबादेवी मंदिर को हस्तगत करने की मांग सरकार से की। विधायक राज के पुरोहित की इस मांग का विरोधी दल नेता राधाकृष्ण विखे पाटील व शिवसेना विधायक सुनील प्रभू व अन्य सदस्यों ने भी समर्थन किया। मुख्यमंत्री ने पुरोहित व अन्य सदस्यों की मांग को स्वीकार करते हुए विधानसभा में एलान किया कि सरकार कानून में संशोधन करके मुंबादेवी मंदिर को हस्तगत करेगी।