पोरवाल समाज का सपना साकार; मुंबई में पोरवाल भवन के निर्माण का...

पोरवाल समाज का सपना साकार; मुंबई में पोरवाल भवन के निर्माण का शानदार शुभारंभ

SHARE

मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी में पोरवाल समाज का अपना भवन बनने की शुरूआत हो गई है। मुंबई के हृदय स्थल भायखला में, मुख्यमार्ग अंबेडकर रोड़ पर रानी बाग के बिल्कुल पास यह भवन उस जमीन पर बनने जा रहा है, जहां कुछ साल पहले तक विख्यात नगीना होटल था। पोरवाल समाज के अनेक लोगों का सपना था कि मुंबई में अन्य विभिन्न समाजों की तरह से उनका भी अपना भवन हो, जहां वे गर्व के साथ सामाजिक अपनत्व का अहसास कर सकें, तो बरसों पुराना यह सपना आखिर पूरा हो रहा है। विख्यात समाजसेवी प्रकाश जैन (इंस्पिरा), मदन मुठलिया (भैरव ग्रुप) और केवलचंद जैन (केवल-किरण) की अगुवाई में मुंबई में पोरवाल समाज के अपने भवन का यह सपना साकार होने के अवसर पर एक शानदार समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें समाज के सारे प्रभावशाली लोग, प्रमुख अग्रणी, दानवीर, समाजसेवी एवं उद्योग व व्यवसाय से जुड़े लोगों ने बरसों की साधना से साकार हो रहे  अपने समाज के भवन की शुरूआत के समारोह में शिरकत करके भवन बनाने में अग्रणी लोगों के सत्कार्य की अनुमोदना की।

पोरवाल परिषद के भवन निर्माण समिति व पोरवाल जैन फाऊंडेशन के सदस्य, उद्योगपति प्रकाश भुरमलजी जैन (चेयरमेन इंस्पिरा इन्टरप्राईजेस इण्डिया प्रा. लि.) की अध्यक्षता में आयोजित इस समारोह का विभिन्न गणमान्य महानुभावों व संस्था पदाधिकारियों द्वारा दीप प्रज्वलन व श्री आदिनाथ प्रभु के चित्र पर माल्यार्पण कर राष्ट्रगीत के पश्चात श्रीमती जिनाज्ञा चिंतन जैन द्वारा मधुर स्वर नवकार महामंत्र का पठन कर शुभारंभ किया गया।

पोरवाल भवन के निर्माण की प्रक्रिया के शुभारंभ के पावन अवसर पर समारोह के अध्यक्ष पद से संबोधित करते हुए प्रकाश जैन (इंस्पिरा) बहुत खुश थे, उन्होंने अपनी खुशी व्यक्त करते हुए समारोह में कहा कि मैं गोरवान्वित हूं कि पोरवाल समाज को विश्व स्तरीय बनाने के आज के इस गरिमामयी कार्यक्रम में मैं आपके साथ सम्मिलित हूं। उन्होंने कहा कि ‘मुंबई मां रोटलो तो मळे, पण ओटलो नहीं मळतो… इस कहावत को पोरवाल समाज आज से अपने इस भवन के जरिए बदलने जा रहा है। उन्होंने मुंबई शहर के बीचों बीच भायखला जैसे बहुत ही महत्वपूर्ण इलाके में मुख्य मार्ग पर एक बहुत ही अच्छे समाज भवन का निर्माण होने की सभी को बधाई दी। उन्होंने यह भी कहा कि जिस जमाने में लोग खुद के अलावा किसी अन्य के बारे में बिल्कुल ही नहीं सोचते। उस जमाने में अपने घर परिवार के बारे में सोचने के साथ साथ हम लोग समाज की भी चिंता करते हुए समाज का एक शानदार भवन बनाने जा रहे हैं, इससे अच्छी बात और क्या हो सकती है।

पोरवाल भवन के इस शुभारंभ समारोह में इस भवन का सपना देखनेवाले समाजसेवी एवं भवन निर्माता मदनराज मुठलिया ने प्रस्तावित भवन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस भवन को एक सबसे महत्वपूर्ण पोरवाल संस्था के रूप में सेवा करने के लिए इस भवन का निर्माण हो रहा है। उन्होंने कहा कि एक भवन निर्माता के नाते वे जानते हैं कि भवन बनाना कोई बहुत आसान काम नहीं है, फिर भी अकेला व्यक्ति मेहनत और हिम्मत करके भवन बना लेता है। मगर, समाज भिन्न भिन्न विचारों के लोगों को साथ लेकर, अलग अलग मत को एकमत करके समस्त समाज का भवन बनाना बहुत मुश्किल काम है। लोकिन समाज के सहयोग से यह मुश्किल काम भी आसान हो गया है, यह सबसे बड़ी खुशी की बात है। मुठलिया ने कहा कि इस भवन के जरिए खासकर युवा वर्ग को जोडऩे का हमारा मुख्य ध्येय है, ताकि यह भवन सांस्कृतिक, शैक्षिक, सामाजिक और समग्र कल्याणकारी गतिविधियों का केंद्र बने। उन्होंने कहा कि पोरवाल समुदाय के लिए यह भवन शैक्षणिक, बौद्धिक और आध्यात्मिक रूप से विकसित होने के अवसर को केन्द्र बनेगा।

समारोह में देश के अग्रणी उद्योगपति केवल किरण गु्रप के चेयरमेन केवलचंद जैन ने कहा कि पोरवाल भवन समस्त समाज के लिए नई खुशी लेकर आया है। यह समाज के सपने के पूरा होने का अवसर है, क्योंकि यह हम सबका घर होगा। उन्होंने कहा कि पोरवाल भवन समाज के जरूरतमंद लोगों की क्षमताओं को बढ़ाने में सहायता करने के लिए सहयोगी बनेगा एवं आनेवाले समय में पोरवाल भवन पोरवाल जैन फैडरेशन की गतिविधियों को मजबूती से आगे बढ़ाने में सहयोगी साबित होगा।

पोरवाल भवन मुंबई ही नहीं देश भर के पोरवाल समाज को जोडऩे में विशिष्ट भूमिका निभाएगा, ऐसा माना जा रहा है। पोरवाल समाज का उद्धेश्य है कि समाज को सही दिशा में प्रेरित करने हेतु जिन जीवन मूल्यों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है, उनके लिए यह भवन विशिष्ट कार्यक्रमों और सेवाओं को प्रोत्साहित करने के मुख्य केंद्र के रूप में जाना जाएगा। इस भवन के निर्माण के पीछे जो प्रमुख उद्धेश्य हैं, उनमें से एक यह भी है कि समाज की बढ़ती जरूरतों को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों और सेवाओं की निरंतरता के लिए सामुदायिक भागीदारी और शिक्षा व आर्थिक एवं सामाजिक सशक्तिकरण का काम भी इस भवन में हो।

भायखला में बननेवाले इस पोरवाल समाज के समस्त लोग इस भवन के लिए जिस तरह से प्रयत्नशील हैं, उससे साफ लगता है कि इस समाज भवन के निर्माण की प्रक्रिया भी जल्दी ही शुरू होगी एवं पोरवल समाज के लिए यह बहुत बड़ी प्रतिष्ठित के केंद्र के रूप में हमारे सामने खड़ा होगा। पोरवाल भवन के शुभारंभ को मुंबई में पोरवाल समाज के अब तक के सबसे बड़े अचीवमेंच के रूप में देखा जा रहा है। इस समारोह में समस्त पोरवाल बंधुओं के खिले हुए चेहरे देखकर कहा जा सकता है कि सभी के लिए यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण और दिल को छू लेने वाला पल था। इस गरिमामयी कार्यक्रम की संचालन टीवी कलाकार एवं कवि शैलेष लोढ़ा ने किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सुधीर रामचंद्रजी गुप्ता (सांसद मंदसौर) व चैतन्य कुमार काश्यप (विधायक-रतलाम) एवं अतिथि पारस जैन (जावल-चेन्नई) व ललित जैन सूरत सहित कई अग्रगण्य महानुभावों का बहुमान किया गया।

click to expand
click to expand

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कार्यक्रम को सफल बनाने में आयोजन समिति के सदस्य केवलचंद पी. जैन, प्रकाश बी. जैन, मदनलाल पी. मुठलिया, जे. बी. जैन, उत्तमचंद के. जैन, डा. सी.एल. चौहान, दिलीप एल. पोरवाल, कांतिलाल मानमलजी, भरत बी. जैन, अमृत टी. जैन, कमलेश के. संघवी आदि का अथक प्रयास व योगदान सराहनीय रहा। इस समारोह में श्री सादड़ी युथ ग्रुप व बेड़ा यंग ब्रिगेड की व्यवस्था सराहनीय रही। कांतिलाल मानमलजी सांडेराव ने आभार प्रकट किया। कार्यक्रम के पश्चात स्वरुचि भोजन की व्यवस्था रखी गई थी।