आचार्य श्री रामेश डायलसिस सेन्टर का भव्य उद्घाटन

आचार्य श्री रामेश डायलसिस सेन्टर का भव्य उद्घाटन

SHARE

मुंबई। रांका फाउंडेशन की स्थापना १९९२ में आचार्य श्री नानेश के आशीर्वाद से प्रारम्भ हुई, जो आध्यत्मिक एवं संस्कृति विकास एवं स्वास्थ्य एवं शिक्षा के सेवार्थ तन मन धन से समर्पित है। फाउंडेशन के द्वारा राजस्थान में उदयपुर से ६० किमी दूर गुरुवर स्वर्गीय आचार्य श्री नानेश की जन्म स्थली दांता ग्राम में ‘समता विकास ट्रस्ट’ की स्थापना से हुई जो आज शिक्षा, सेवा, साधना की तपोभूमि बन गई है। वहां १५०० लडक़े लड़किया गुरुकुल में रह कर शिक्षा प्राप्त करते है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रति वर्ष नि:शुल्क १५०० आँख के आपरेशन, ५०० जनरल सर्जरी तथा १००० दातों के प्रोसीजर होते है। बीस हजार मरीजों का नि:शुल्क इलाज कर दवाइयां दी जाती है। वहां व्यसन मुक्ति एवं ग्राम सेवा केंद्र के साथ अध्यात्म विकास के लिए समीक्षण ध्यान केंद्र है। यह संस्था १०० बीघा जमीन पर गहरी हरियाली के ५००० पेड़ो के साथ प्राकृतिक वातावरण में कार्यशील है।

दाता ग्राम में उपलब्ध सफलता से उत्साहित होकर फाउंडेशन ने शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवार्थ पनवेल में १४६ बॉयज एंड १०५ गल्र्स के लिए हॉस्टल एवं बेलापूर मॉडर्न मल्टी स्पेसिलीटी हॉस्पिटल की स्थापना की। न्यू पनवेल में अब ५० वर्किंग वीमेन के लिए हॉस्टल निर्माणाधीन है। इसी प्रकार मुंबई में ‘रांका भवनÓ (आध्यात्मिक विकास) के लिए वर्ली सीफेस पर कार्यरत है। वर्ली में ही ‘रांका सदनÓ (सेवा प्रकल्प) एवं रांका निकेतन (संस्कृति विकास) का गत दिनों शुभारम्भ हुआ है। रांका फॅमिली ट्रस्ट की पशु सेवा क्षेत्र में भी सेवा की भावना २ वर्ष पूर्व बनी। भीलवाड़ा में ११ बीघा जमीन के विशाल मैदान में बीमार गायों के देखभाल एवं इलाज का कार्य शुरु हुआ। वहां अब १५० गायों का ३ शेड्स में सुचारु रुप से उपचार हा रहा है। इसी कड़ी में आचार्य रामेश डायलसिस सेंटर स्थापित किया गया। जिसका उद्घाटन सम्माननीय चैतन्य कश्यप वाईस चेयरमेन प्लैनिंग कमिशन मध्यप्रदेश सरकार के कर कमलों द्वारा सम्मानीय श्रीमति विद्या ठाकुर समाज कल्याण मंत्री, महाराष्ट्र सरकार, विशिष्ट अथिति की उपस्थिति में  एक भव्य समारोह में किया गया। सेंटर के लिए यह जगह साकीनाका, सफेद पुल के पास अंधेरी कुर्ला घाटकोपर ट्राय जंक्शन पर लोकेटेड है और यहाँ बड़ी आबादी आर्थिक रुप से कमजोर तथा कम संपन्न लोगों की है। इस सेंटर में २० डायलसिस मशीनों से किडनी मरीजों का प्रतिवर्ष अठ्ठाराह हजार डायलसिस करना प्रस्तावित है। एमेर्जेन्सी के लिए ‘आयसीयूÓ बेड तथा व्हेंटिलेटर एवं एम्बुलेंस की व्यवस्था है। यह सेंटर फुली एयरकंडीशनल है, तथा आर.ओ प्लांट एवं अन्य सभी उपकरणों से सुसज्जित है। इस सेंटर पर येलो राशन कार्ड होल्डल जो आर्थिक रुप से कमजोर है उन्हें ४० प्रतिशत डिस्काउंट तथा पिंक राशन कार्ड होल्डर जो आर्थिक रुप से कम संपन्न है। उन्हें २० प्रतिशत डिस्काउंट एवं सीनियर सिटिजन जो ६० वर्ष से ऊपर है उन्हें १० प्रतिशत डिस्काउंट दिया जाना प्रस्तावित है। आशा है, यह डायलिसिस सेंटर प्रत्येक जन समुदाय की उचित सेवा करेगा।