रेल विकास संवाद में रेल मंत्री ने कहा मारवाड़ के रेल विकास...

रेल विकास संवाद में रेल मंत्री ने कहा मारवाड़ के रेल विकास में कमी नहीं रहेगी

SHARE

मुम्बई। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि राजस्थान में रेल सेवाओं के विकास में भारत सरकार कोई कमी नहीं आने देगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान के साथ ही पूरे देश के रेल नेटवर्क का चेहरा आनेवाले 5 सालों में पूरी तरह से बदल जाएगा। रेल मंत्री सुरेश प्रभु रेल सेवाओं के विकास और विस्तार के लिए पिछले 40 साल से लगातार संघर्ष करनेवाली संस्था राजस्थान मीटर गेज प्रवासी संघ द्वारा मुंबई में आयोजित ‘रेल विकास संवाद’ कार्यक्रम में बोल रहे थे।

रेल मंत्री ने राजस्थान मीटर गेज प्रवासी संघ की मांग को स्वीकारते हुए विश्वास दिलाया कि आनेवाले कुछ ही समय में मुंबई से जोधपुर और बीकानेर के बीच शीघ्र ही दो नई ट्रेनें चलाई जाएंगी। इनमें से एक ट्रेन पालनपुर होते हुए भीलड़ी, रानीवाड़ा, भीनमाल, जालोर और समदड़ी, से जोधपुर के रास्ते चलाई जाएगी। जिससे इस रूट के प्रवासियों को भी सुविधा हो सके। प्रवासी संघ के इस कार्यक्रम में वरिष्ठ विधायक राज के पुरोहित एवं मंगल प्रभात लोढ़ा सहित प्रवासी संघ के अध्यक्ष चम्पत मुत्ता, महामंत्री विमल रांका,  उपाध्यक्ष सुकन परमार, सचिव निरंजन परिहार, सिद्धराज लोढा, कोषाध्यक्ष कांति सी. जैन सहित पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक अनिल कुमार अग्रवाल के साथ कई वरिष्ठ रेल अधिकारी भी उपस्थित थे। रेल मंत्री प्रभु ने राजस्थानी समाज के प्रति कृतज्ञता जताते हुए कहा कि देश के विकास में राजस्थान और राजस्थानियों का बहुत बड़ा योगदान है। इस योगदान का ऋण चुकाने के प्रयास स्वरूप आनेवाले 5 सालों में रेल मंत्रालय राजस्थान में रेल विकास की नई शुरूआत करने जा रहा है। इसके तहत राजस्थान को रेल विकास के लिए अब तक हर साल दी जानेवाली राशि से 4 गुना ज्यादा विकास राशि उपलब्ध कराएगा। इस बारे में उन्होंने मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे से हुई बातचीत की भी चर्चा की। उन्होंने राजस्थान सहित देश भर में ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने की भी जानकारी दी।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

रेल सेवाओं के विकास की चर्चा करते हुए रेल मंत्री ने कहा कि अगले 5 सालों में देश में 16500 किलोमीटर रेल मार्ग को डबल लाइन में परिवर्तित करने के साथ ही उसका इलेक्ट्रिफिकेशन भी किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि प्रवासी संघ की मांग पर अजमेर, मारवाड़ जंक्शन, फालना, आबूरोड़ से पालनपुर के बीच रेलमार्ग का दोहरीकरण का काम लगभग पूरा होने जा रहा है और आनेवाले समय में उसके इलेक्ट्रिफिकेशन की भी तैयारी है। रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे स्टेशनों के विकास की योजना तैयार की गई है, जिसके तहत आनेवाले 5 सालों में देश के अनेक रेलवे स्टेशनों की शक्ल भी बदल जाएगी। उल्लेखनीय है कि सिरोही रोड़ और फालना से इसकी शुरूआत हो चुकी है।

‘रेल विकास संवाद’ के इस कार्यक्रम में विख्यात समाजसेवी कनकराज लोढ़ा समारोह अध्यक्ष थे तथा आयोजन का उदघाटन जाने माने उद्यमी मदनराज मुठलिया ने किया एवं चार्टडऱ् अकाउंटेंट चंदन परमार विशिष्ट अतिथि थे। समारोह में उद्योगपति उत्तम के जैन स्वागताध्यक्ष थे तथा प्रसिद्ध व्यवसायी विमल बोराणा ने स्मारिका का विमोचन किया। प्रवासी संघ के ‘रेल विकास संवाद’ के इस आयोजन में मुंबई के राजस्थानी समाज की कई संस्थाओं के प्रतिनिधियों सहित करीब 600 से भी ज्यादा लोग उपस्थित थे।

कार्यक्रम को सफल बनाने में कार्यकारणी सदस्य रमेश चौपड़ा, जयंतिलाल परमार, कांति कितावत, मुलचंद जैन, पुखराज राठौड़, नरेन्द्र मंडोत, देवराज जैन सहित रमेश सी. जैन एवं सज्जन रांका की विशेष भूमिका रही। समारोह में जुगराज मुठलिया, जुगराज पुनमिया, फतेहचंद राणावत, रमेश पुनमिया, मिश्रीमल ढेलरीयाबोरा, उत्तमचंद ढेलरीयाबोरा, प्रकाश चौपड़ा, एडवोकेट एम.डी. माली, शांतिलाल पुनमिया, मानक राठौड़, उत्तचंद तेलीसरा, शांतिलाल कितावत, दीपचंद मेहता, मोतीलाल सेमलानी, प्रवीण शाह, रेखराज सुराणा, किरणराज सुराणा, डा. सी. एल. चौहान, शांतिलाल जैन, देवीचंद चौपड़ा, शांतिलाल चंडालिया, अशोक जैन, उगमराज तेलीसरा, शांतिलाल पारेख, ललित जैन, दिनेश राजावत राठौड़, बाबुलाल कोठारी, रमेश पारेख, जयंतिलाल भंडारी, वसंत रांका, सुरेश रांका, कल्पेश रांका, चांदमल हिंगड, ताराचंद जैन, बाबूलाल लोढ़ा, पारस लुणिया व अन्य प्रमुख लोग उपस्थित थे।