मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की उपस्थिति में जीओ ने की महाराष्ट्र के 17...

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की उपस्थिति में जीओ ने की महाराष्ट्र के 17 हजार गांवों में जल है, तो कल है अभियान की शुरूआत

SHARE

मुंबई। समस्त विश्व के जैन समाज की प्रतिनिधि संस्था जैन इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन (जीओ) ने महाराष्ट्र के 17000 (सत्रह हजार) गांवों में तालाब, बावड़ी, कुएं और नदी आदि जलस्रोतों के विकास अभियान की शुरूआत की है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस एवं केंद्रीय विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की उपस्थिति में भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव में विख्यात जैन संत नयपद्म सागर महाराज ने अपने जल है तो कल है अभियान के तहत इस योजना की शुरूआत की घोषणा की गई।

देश के आजादी के लिए शुरू हुई क्रांति ले किए विख्यात अगस्त क्रांति मैदान से इस जल क्रांति की शुरूआत की घोषणा के मौके पर करीब दस हजार से भी ज्यादा लोग उपस्थित थे। महाराष्ट्र के वरिष्ठ विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा सहित राज के पुरोहित, राजेंद्र पाटनी, प्रशांत बंब, पराग अलवणी, अमित साटम, डॉ. भारती लवेकर आदि विधायकगण सहित मुंबई के कई नगरसेवक एवं मीरा भायंदर की महापौर गीता जैन भी उपस्थित थी। इस अवसर पर पीडि़त महिलाओं को सक्षम बनाने के प्रेरक कार्य के लिए श्रीमती अमृता फडणवीस का सम्मान एवं सामाजिक चेतना लेखन हेतु श्रीमती मंजू लोढ़ा व संस्कारी सिने कलाकार धृ्रविन शाह का अभिनंदन किया गया। भगवान महावीर के जन्म कल्याणक पर महाराष्ट्र में जल क्रांति की इस अनूठी शुरूआत पर हजारों लोगों ने अपने दोनों हाथों में हजारों दियों से भगवान महावीर की सामूहिक आरती उतारी। समारोह में महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश आदि उच्च न्यायालयों के 12 न्यायाधीश, विभिन्न प्रदेशों के आइएएस, आइपीएस, आइआरएस अधिकारियों की विशेष उपस्थिति रही। इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र के 800 किसानों के वे बच्चे भी उपस्थित थे, जिन्हें ‘जीओÓ द्वारा शैक्षणिक सहायता अभियान के तहत पढ़ाया जा रहा है।

devendra fadanvis - jio2भगवान महावीर के २६१६वें जन्म कल्याणक महोत्सव अवसर पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वर्तमान में देश जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उनका हल भगवान महावीर के सिद्धांतो से ही संभव है। मुख्यमंत्री ने गणिवर्य नयपद्म सागर महाराज द्वारा प्रणित महाराष्ट्र के सत्रह हजार गांवों में जलस्रोतों के विकास अभियान की शुरूआत को जैन समाज का बहुत बड़ा योगदान बताया।

इस अवसर पर वर्तमान जीवन में पुनर्जन्म के प्रतिस्थापन की आवश्यकता पर बल देते हुए नयपद्म सागर महाराज ने कहा कि पुनर्जन्म की धारणा से व्यक्ति के वर्तमान जीवन में अपराध कम होंगे। उन्होंने प्रकृतिक आपदाओं से बचाव के लिए धर्म एवं तप के परंपरागत मार्ग की तरफ प्रवृत्त होना ही मानव मात्र के लिए अंतिम उपाय बताया। इस मौके पर साध्वीश्री मयणाश्रीजी द्वारा सामाजिक संस्कार क्रांति स्वरूप २५ वर्ष की उम्र तक संतान के विवाह का कानूनी अधिकार माता पिता को देने की मांग सरकार से करने की घोषणा भी की गई।

devendra fadanvis - jio1केंद्रीय विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के हाथों समाजसेवा, राष्ट्रविकास धर्मार्थ कार्यों में सहयोग के लिए एसपी छाजेड़, शिवजीभाई भिकमसी, रश्मि संघवी, टीपी ओसवाल, विनीत जैन एवं तरुण जैन आदि ६ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स एवं पद्मश्री डॉ. अश्विन बी मेहता, डॉ. भरत परमार, डॉ. सुजल शाह, डॉ. सीएम चौहान, डॉ. झलकारिया, डॉ. कमल जैन आदि चिकित्सकों का भी अभिनंदन किया गया। साथ ही मुंबई में विशिष्ट सामाजिक कार्यों के लिए ९ जैन संघों का भी केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के हाथों अभिनंदन किया गया। अगस्त क्रांति मैदान में भगवान महावीर के जन्म कल्याणक अवसर पर पूरे मुंबई में विभिन्न स्थानों पर ७ लाख लड्डुओं का प्रसाद वितरण भी अपने आप में एक इतिहास बना। अगस्त क्रांति मैदान पर आयोजित भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव में करीब दस हजार से भी ज्यादा श्रद्धालुओं ने भव्य भक्ति संध्या, में सहभाग लिया एवं प्रभु जन्म पर आपस में बधाई दी एवं एवं पालना झुलाया। गणिवर्य नयपद्म सागर महाराज ने इस समारोह के समस्त सहभागियों को आशीर्वाद देते हुए सत्कार्यों में लीन रहने की प्रेरणा दी है। उन्होंने कहा कि जीओ का महाराष्ट्र के सत्रह हजार गांवों में जलस्रोतों के विकास का यह अभियान प्रदेश के ग्रामीण इलाकों के विकास में सबसे बड़ा सहभागी साबित होगा। मुंबई में महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव पर आयोजित इस बार के सभी आयोजनों में जैन समाज की प्रतिनिधि संस्था जीओ के इस आयोजन को सबसे ज्यादा सराहा जा रहा है।