निजस्वार्थ सेवा समिति का होली हुडदंग का कार्यक्रम संपन्न

निजस्वार्थ सेवा समिति का होली हुडदंग का कार्यक्रम संपन्न

SHARE

मुंबई। राजस्थानी युवा कपडा व्यापारियों के उत्साही दल द्वारा ७ वर्ष पूर्व निजस्वार्थ सेवा समिति का गठन किया गया। संस्था के संस्थापक कमल नयन बजाज के अनुसार संस्था के नाम का उद्देश्य सामाजिक संस्थाओं द्वारा किए जा रहे परोपकार के नाम पर प्रोपोगंडा व धार्मिक प्रपंचों में चंदों के दुरुपयोग का विरोध करना है। संस्था द्वारा कालबादेवी में ढप-धमाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान के परंपरागत ढप-तुतारी, बासुरी वादन व राजस्थानी लोकनृत्य व लोकगीतों के साथ कालबादेवी, बादामवाडी से बारात रवाना होकर डॉ. व्हिगास स्ट्रीट से चर्च, दादी शेठ अग्यारी लेन से होते हुए सीताराम पोद्दार बालिका विद्यालय हॉल में पहुंची। रास्ते में मिले विदेशी सैलानियों ने बढ-चढ कर हिस्सा लिया और जुलूस में सम्मिलित होकर कार्यक्रम का आनंद लिया। सैकडों व्यापारियों ने सिर पर परंपरागत राजस्थानी साफा व फेटा धारण कर सामूहिक रूप से होली के रसिए नाचते-गाते हुए कालबादेवी की गलियों से बारात जैसे सजे-धजे झूम रहे थे और बारात के साथ भीड का कारवां जुलूस में जुडता गया तो उस वक्त ऐसा लग रहा था कालबादेवी एक छोटे राजस्थान के रूप में परिवर्तित हो गया। छज्जों व बालकनियों से दर्शकों का हुजूम जुलूस में जोश पैदा कर रहा था। कार्यक्रम में विशेष रूप से पधारे नवनिर्वाचित युवा नगरसेवक आकाश राज पुरोहित का संस्थापक कमलनयन बजाज ने स्वागत किया। अतिथियों का स्वागत पकौडे व ठंडई से किया गया। रात्रि भोजन के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

kamalnayan bajaj-holi1

संस्था के संस्थापक कमलनयन बजाज की अगुवाई में किए गए इस कार्यक्रम को लोगों ने कालबादेवी का ऐतिहासिक कार्यक्रम बताया। संस्था का दिलचस्प पहलु यह रहा कि संस्था से जुडे सभी लोग अध्यक्ष हैं। सभी लोग आपस में मिलजुलकर काम करने में विश्वास रखते हैं। कार्यक्रम को सफल बनाने में डी.पी. भूतडा, पवन जैन, अरुण चांदगोठिया, कपूरचंद सोलंकी, रमेश तोदी, मनोज शर्मा, निरंजन बोहरा, पी.के. भगेरिया, ओमप्रकाश शर्मा, नवनीत टिबडेवाल, रामअवतार शर्मा, अशोक पहाडिया, जगदीश चौधरी, अरुण मित्तल, दिनेश शर्मा, पवन सिंह, अशोक सिंह एवं ताराचंद टेलर का योगदान रहा। कार्यक्रम का संचालन महेन्द्र रुंगटा ने किया। आभार शंकरलाल जांगीड ने व्यक्त किया।