श्री मेवाड़ जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ मुंबई द्वारा प्रथम मेवाड़ रत्न समारोह...

श्री मेवाड़ जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ मुंबई द्वारा प्रथम मेवाड़ रत्न समारोह का भव्य आयोजन

SHARE

मुंबई। भांडुप के मेवाड़ केशरी भवन में मेवाड़ जैन समाज द्वारा मेवाड़ रत्न अभिनंदन समारोह का सफल आयोजन हुआ। आयोजन में प्रथम मेवाड़ रत्न सम्मान से भारत जैन महामंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश धाकड़ को नवाजा गया। यह सम्मान बीजेपी विधायक मंलगप्रभात लोढ़ा, मेवाड़ जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ मुंबई के अध्यक्ष मोहन पामेचा, स्थानकवासी जैन संघ मुंबई के अध्यक्ष चतरलाल लोढ़ा और तेरापंथी सभा मुंबई के अध्यक्ष सुनील कच्छारा के हाथों दिया गया। समारोह में मेवाड़ के प्रवासी जैन समाज की सामाजिक एकता को मजबूत करने मेवाड़ जैन समाज मुंबई नाम से तीनों संप्रदायों का एक सामाजिक संगठन बनाने का विषय चर्चा में रहा। आयोजन की शुरुआत मेवाड़ महिला मंडल की ओर से सुभद्रा खाब्या ने स्वागत गीत के माध्यम से की। आयोजन में मूर्ति पूजक समाज, स्थानकवासी समाज और तेरापंथी समाज के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारीयों की खासी उपस्थिति रही।

समारोह में मंडल के राष्ट्रीय महामंत्री बाबूलाल बाफना, राष्ट्रीय अध्यक्ष बी. सी. जैन भलावत, राष्ट्रीय महिला मंडल अध्यक्ष कुमुद कच्छारा को मेवाड़ भूषण व महामंडल के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष सुरेश जैन, राष्ट्रीय मंत्री विनोद वडाला व राष्ट्रीय महिला मंत्री ललिता सोनी को अभिनंदन पत्र से सम्मानित किया गया। सम्मान का सम्मान है: पामेचा – मोहन पामेचा ने स्वागत भाषण में कहा कि आज हम हृदय से धाकड़ कहे जाने वाले रमेशकुमार धाकड़ का सम्मान नहीं बल्कि सम्मान का सम्मान कर रहे है। धाकड़ एक ऐसे शख्सियत है जिनके कार्य उनकी पहचान बयां करती है। जिनका जीवन सिर्फ और सिर्फ समाज कल्याण के लिए समर्पित रहा है। ऐसे भामाशाह का सम्मान करना अपने आप में सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि मेवाड़ जैन समाज की एकता की भी हम इस कार्यक्रम के माध्यम से नीवं रख रहे है। मेवाड़ जैन समाज अगर एक मंच पर आ गया तो उसकी ताकत की कल्पना नहीं की जा सकती है। हमने एक योजना पर काम करने का फैसला किया है। हम तीनों संप्रदायों से ग्यारह ग्यारह लोगों की टीम तैयार करेंगे जो मेवाड़ जैन समाज की एकता के लिए रोड मैप तेयार करेगा। हमारा लक्ष्य इंटरनेशनल लेवल का स्कुल खोलने के साथ साथ मेवाड़ के लोगों को एक धागे में पिरोना होगा। जिससे भविष्य में मेवाड़ संघ के लोगों के हितो के कामों को एक नए आयाम तक पहुंचाने में सुविधा होगी। पामेचा ने कार्यक्रम की सफलता को कार्यकर्ताओं को समर्पित करने हुए कहा कि सभी कार्यकर्ता ने इससे अच्छी भूमिका निभाई है मगर मंत्री किसन सिंघवी व कोषाध्यक्ष मनीष कोठारी का बडा योगदान है, जिसे भुलाया नहीं जा सकता।

जीवन की सबसे बड़ी कमाई: धाकड़ – अभिनंदन मूर्ति रमेश धाकड़ ने कहा कि आज का अवसर मेरे लिए अनोखा अवसर है। मैं आज बहुत खुश हँू। कुछ साल पहले में समाज से दूर था। व्यापार में सक्रिय था पर जब मैं समाज कल्याण कामों में जुड़ा तो फिर पीछे मुडक़र नहीं देखा। आज जो मिला है वो अब तक की सबसे बड़ी कमाई मानता हँू। जिन्होंने मेरा समय समय पर मार्गदर्शन किया। आज मुझे दुनिया की सबसे बड़ी खुशी की प्राप्ति हुई। समाज जब आप को जगह देता है तो कार्यकर्ता की मेहनत सफल हो जाती है। साथ ही मोहन पामेचा को शुभकामनाएं देता हूँ वो जिस मकसद की ओर बढ़ है उसमें उन्हों सफलता हासिल हो। मेवाड़ जैन समाज की एकता एक नया इतिहास रचेगी।

कार्यक्रम में विशेष अतिथियों में भारत जैन महामंडल के पूर्व अध्यक्ष सुभाषचंद्र रुणवाल, चंपालाल वर्धन, सुमतिलाल कर्णावट, जीतो के अध्यक्ष शान्तीलाल कवाड़, तेरापंथी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष किशनलाल डागलिया, भारत जैन महामंडल के भावी अध्यक्ष के. सी. जैन, किशनलाल डागलिया, सुरेश सिंघवी, ख्यालीलाल तातेड़, भंवरलाल कर्णावट, नरेन्द्र बांठिया, मोतीलाल कोठारी, शांतिलाल राठौड़, इन्दरमल वडाला, गणपत डागलिया, ताराचंद गन्ना, महेन्द्र पगारिया, लक्ष्मीलाल वडालमिया, गुणवंत खेरोदिया, मेघराज धाकड़ आदि की उपस्थिति रही। ललित परमार ने मंच का संचालन किया। श्रीपाल कोठारी ने आभार ज्ञापन किया।

Vinod Vadala felicitated at the event
Vinod Vadala felicitated at the event