साधुमार्गी जैन संघ का राष्ट्रीय अधिवेशन संपन्न सुभाषचन्द्र रुणवाल द्वारा उच्च शिक्षा हेतु ५० लाख की राशी देने की घोषणा

    SHARE

    मुंबई। आचार्य नानेश का ५४वां चादर प्रदान दिवस एवं जैनाचार्य रामलाल म.सा. का २६वां मुनि प्रवर दिवस एवं अखिल भारत वर्षीय साधुमार्गी जैन संघ का स्थापना दिवस उत्साह के साथ तीन दिवसीय आयोजन के साथ मनाया गया। संघ और इनकी शाखाएं अ.भा.सा. जैन महिला समिति एवं अभासा जैन युवा संघ के वार्षिक अधिवेशन भी संपन्न हुए। इस अवसर पर आचार्य रामलाल म.सा. ने कहा कि विश्व की सारी समस्याओं का समाधान आचार्य नानेश के समता से ही संभव है। सद्विचार और सदाचरण से व्यक्ति, समाज एवं देश महान बनता है। राजेश मुनि म.सा. ने संघ सेवा में विनम्रता व सज्जनता की आवश्यकता और महत्व को बताया। संघ सेवा में प्रतिदिन समय देने व सुनिश्चित कार्यो को समय पर करने की प्रेरणा दी।

    subhashji runwalइस अवसर पर भारत सरकार के केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि आचार्य नानेश के समता दर्शन और व्यवहारऔर जवाहर शिक्षण संस्थान से प्राप्त शिक्षा के कारण ही आज मैं जो कुछ हंू वह बन पाया। इस युग के महान त्यागी जैनाचार्य रामगुरु के दर्शन पाकर में आज धन्य हो गया हंू। हम संसद में कानून बनाते समय व मंत्रालय में कार्य करते हुए सदैव स्मृति पटल पर रखेंगे। राष्ट्रीय अधिवेशन समारोह अध्यक्ष हुलास मल संचेती, विशिष्ठ अतिथि व मुख्य वक्ता वल्लभ भंसाली, विशिष्ठ अतिथि अजय कुमार संचेती, (सांसद राज्यसभा), विशिष्ठ अतिथि गोपाल शेट्टी (सांसद), विशिष्ठ अतिथि रजनीश कुमार (मैनेजिंग डायरेक्टर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया), संघ के राष्ट्रीय महामंत्री संपत रांका, चातुर्मास संयोजक उमराव सिंह ओस्तवाल मुंबई संघ के अध्यक्ष कंवरलाल सांखला, कार्याधक्ष सुरेन्द्र दस्साणी, महामंत्री मनोहर सूर्या आदि की उपस्थिति में प्रथम दिवस के कार्यक्रम हुए। इस अवसर पर भारतीय जैन संगठना के संस्थापक शांतिलाल मुथा को आचार्य नानेश जनसेवा पुरस्कार’, चम्पालाल सा स्मृति प्रशासनिक सेवा पुरस्कार मध्यप्रदेश के अति. पुलिस महानिरीक्षक प्रदीप रुणवाल को प्रदान किया गया। कार्यक्रम में अभासा जैन संघ की विकास यात्रा का एक वृत्तचित्र प्रस्तुत किया गया। दूसरे चरण में समारोह अध्यक्ष सुभाषचन्द्र रुणवाल, चेयरमेन रुणवाल ग्रुप, समारोह गौरव हुलासमल संचेती, मुख्य अतिथि अर्जुनराम मेघवाल, केन्द्रीय राज्यमंत्री भारत सरकार, विशिष्ठ अतिथि मोहन मिठवाकर एवं शिखर सदस्यों की उपस्थिति रही।

    इस चरण में संघ के नये महाप्रभावकों का एवं उमरावमल टोंक, बाबुलाल छाजेड़, मोहनलाल श्रीश्रीमाल, सागरमल चण्डालिया का बहुमान किया गया। साथ ही देशभर में संचालित कार्यक्रम में विशिष्ठ गतिविधियों के लिए देशभर के सर्वश्रेष्ठ संघ श्रावक-श्राविका को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अभासा जैन समता युवासंघ के राजेश गुलगुलिया (सीलचर) का आगामी दो वर्ष के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष के रुप में मनोनयन किया गया।

    त्रिदिवसीय आयोजन में समाज कल्याण के लिए विभिन्न योजनाओं हेतु विभिन्न दानदाताओं ने राशि घोषित की और कई योजनाओं को समाज के लिए समर्पित किया। साथ ही विवाह समारोह को सादगीपूर्ण एवं अडम्बर रहित बनाने के लिए समाज के कई परिवारों में अपनी स्वीकृति देने का निर्णय लिया। श्रीश्रीलाल म.सा. उच्च शिक्षा योजना के तहत संघ के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को ब्याजमुक्त ऋण स्वधर्मी सहायता, परिवार अंजली, स्वाध्यायी संस्कार सेवा के प्रकल्प और आचार्य नानेश जन्म शताब्दी की तैयारियों के रुप में आगम भक्ति जैसी प्रमुख गतिविधियों को सफल बनाने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन महेन्द्र चोरडिय़ा एवं मनोहर सूर्या ने किया।

    कार्यक्रम में साधुमार्गी संघ समता युवा संघ, समता महिला मंडल एवं समता बहू मंडल की उपस्थिति रही। कार्यक्रम का संचालन कुमुद जैन और महेश नाहटा ने किया। यह जानकारी अशोक सुराणा एवं राजेन्द्र छाजेड़ ने दी।