अनुकंपा दिवस के रूप में मना गच्छाधिपति आचार्य श्री नित्यानंद सूरीश्वरजी का...

अनुकंपा दिवस के रूप में मना गच्छाधिपति आचार्य श्री नित्यानंद सूरीश्वरजी का जन्मदिन

SHARE

पुणे। पंजाब केसरी परम पूज्य आचार्य श्री विजय वल्लभसूरीश्वरजी म.सा. समुदाय के वर्तमान गच्छाधिपति आचार्य श्री विजय नित्यानंद सूरीश्वरजी म.सा. का 59वां जन्मदिन अनुकंपा दिवस के रूप में मनाया गया। देश विदेश से आये भक्तों ने उन्हें बधाई देते हुए दीर्घायु की कामना की। ज्ञात हो गुरुदेव का चातुर्मास पुण्य नगरी पुना में चल रहा हैं।

श्री राजस्थान जैन श्वेताम्बर संघ (पूर्व विभाग) के तत्वावधान में मनोरमा हॉल में तप सम्राट परम पूज्य आचार्य श्री वसन्त सूरीश्वरजी म.सा. की निश्रा में पहले  आदिनाथ भगवान के जिनमंदिर में केसर का अभिषेक हुआ। उसके बाद देशभर के विविध संघों की उपस्थिति में आचार्य श्री वसन्तसूरीश्वरजी, मुनिराज श्री मोक्षनंदजी म.सा. सहित उपस्थित गुरुभगवन्तों व साध्वीजी ने उन्हें कांबली अर्पित की। आचार्य श्री वसंत सूरीश्वरजी म.सा. ने विशाल धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा की बड़ी खुशी और गर्व होता हे की नित्यानंदजी गुरु वल्लभ के सपनों को साकार करने और शासन के कार्यो को आगे बढ़ाने के लिये हमेशा तैयार और तत्पर रहते हैं। पुना में चातुर्मास हेतू बिराजमान पालीताणा व शंखेश्वर ग्राम विकास प्रेरक डहेलावाला समुदाय के वर्तमान गच्छाधिपति आचार्य श्री विजय अभयदेव सूरीश्वरजी म.सा. ने भी शुभकामनाये दी। बड़े भैया आचार्य श्री जयानंद सूरीश्वरजी म.सा. ने नित्यानन्द सूरीश्वरजी म.सा. को भेजे संदेश में कहा की जीना मरना तो परमात्मा के हाथ में हैं परंतु आप जितना भी जिए जिनशासन के कार्य तब तक आपके हाथों होते रहे यही आशीर्वाद। साध्वी अमितगुणाश्रीजी (माताजी म.सा.) ने भी उन्हें आशीर्वाद दिया। मुनि श्री मोक्षनंदजी म.सा. ने कहा की उनके लिए गौरव का पल हैं की ऐसे गुरु का सानिध्य मिला जिसे सिर्फ आराधना और शासन के कामों के अलावा दूसरा कुछ भी करते हुए नहीं देखा। असंभव कार्यों को संभव करना आपकी विषेशता हैं। दीक्षा पर्याय के इतने वर्षों में हमने कभी उनके मुख पर गुस्सा नहीं देखा।

 धर्मसभा को संबोधित करते हुए गुरुदेव ने सभी भक्तों का आभार मानते हुए कहा की वे तो शासन के तुच्छ सेवक हैं और आज जो भी कार्य हो रहे है उसके पीछे माता-पिता और गुरुदेवों का आशीर्वाद निरंतर बरस रहा हैं। जीवन में शासन की शोभा को बढ़ाने की शक्ति मुझे आप जैसे संघों से ही मिलती हैं। जब तक जीवन हैं तब तक काम होते रहे और गुरु वल्लभ ने देखे सपनों को पूर्ण करने की शक्ति मुझे मिले यही आशीर्वाद आप लोगों से में चाहता हूँ।

कार्यक्रम में 500 से ज्यादा जीवों को छुड़ाने का संकल्प सघ ने लिया। जन्मदिन के उपलक्ष में 1008 आयंबिल तप करवाने का लाभ जीवीबाई बाबुलालजी सोलंकी तथा लड्डू वोहराने का लाभ संघ अध्यक्ष श्री बाबुलाल सूरजमलजी सोलंकी परिवार ने लिया। इस अवसर पर श्री विजय वल्लभ हाइस्कूल के विद्यार्थियों ने शानदार कार्यक्रम प्रस्तुत किया। इस अवसर पर 59 से ज्यादा ग्रीटिंग कार्ड्स गुरुदेव को भेट किये गए। जन्मदिन के उपलक्ष में विशाल चिकित्सा शिविर का आयोजन हुआ जिसका लाभ संघवी मदनबाई सोहनराजजी कटारिया (घीवाला) परिवार ने लिया। कार्यक्रम का संचालन प्रकाश बाफना ने किया।