अहमदाबाद नगर के सेटेलाईट क्षेत्र में सर्वप्रथम बार श्री सिद्धाचल शत्रुंजय गिरीराज...

अहमदाबाद नगर के सेटेलाईट क्षेत्र में सर्वप्रथम बार श्री सिद्धाचल शत्रुंजय गिरीराज के प्रति कृति और सिद्धाशिला ८-८ नव्वाणु भावयात्रा का आयोजन

SHARE

अहमदाबाद। दीक्षा दानेश्वरी आचार्य भगवंत श्री गुणरत्न सूरीश्वरजी म.सा. के विनय शिष्य प.पू. मुनिवर्य श्री विनतरत्न विजय (सज्जायवाला) म.सा. एवं प.पू. मुनिवर्य श्री दीक्षित रत्न वि. म.सा. की निश्रा में श्री प्रेमचंद नगर जैन संघ जन्जीर वगलोम रोड, सेटेलाईट संघ में ५-५ संघों की भावभरी विनती के बावजूद भी गुरुदेव की आज्ञा से सर्व प्रथम चातुर्मास का प्रवेश खूब उत्साह, उमंग, जोश के साथ वागते गाजते-नाचते प्रवेश हुआ।

मांगलिक प्रवचन में ही संघ में तप-त्याग-साधना-आराधना की विशेष भावना को देखते हुए गुरुदेव श्री की प्रेरणा से चतुर्विंध संघ में सामुहिक ८-८ नव्वाणु सिद्धाचल शत्रुंजय गिरीराज की साक्षात प्रतिकृति एवं सिद्धशिला के सामने रोज तीन भावयात्रा सम्पूर्ण विधी मुजब और ३५ दिन एकासना की संघ में लाभार्थी परिवार की तरफ से सम्पूर्ण पारणा एवं प्रभावना के साथ २२.७.२०१६ से २४.८.२०१६ तक का व पारणा २५.८.२०१६ को प्रभावना बहुमान के साथ आयोजन अहमदाबाद नगर के श्री प्रेमचंद नगर जैन संघ, सेटेलाईट में प्रथम बार हुआ है।

संघ में उत्साह -उमंग-आनन्द-तप-त्याग-आराधना का माहोल को देखते हुए हर रवीवार को ९ से १२.३० बजे तक संगीत के साथ अलग-अलग विषय पर जिरावला पाश्र्व संवेदना, सीमन्धर स्वामीभाव यात्रा, स्नात्र महोत्सव, प्रभुजी से तीन प्रार्थना, संसार के मुल में चार पाया, अन्य अनुष्ठानो के बाद सभी मेहमान व संघ सर्वे की साधर्मिक भक्ति का आयोजन किया है। प्रवेश मांगलिक के बाद प्रभावना, संघ नवकारशी का विशेष आयोजन किया था। प.पू. मुनिवर्य की तरफ से देव गुरु धर्म की कृपा से मनुष्य जीवन में त्याग, समता, समभाव, अहिंसा का पालन करते हुए जीवमात्र का कल्याण में भी आपका साथ सहयोग निमित्त बनो।