आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय जयानंद सूरीश्वरजी (भोलेबाबा) म.सा. की निश्रा में खौड...

आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय जयानंद सूरीश्वरजी (भोलेबाबा) म.सा. की निश्रा में खौड में चल रही हैं धर्म की लहर

SHARE

खौड। धर्मनगरी खौड में वर्तमान गच्छाधिपति शांतिदूत आचार्य श्रीमद् विजय नित्यानंद सूरीश्वरजी म.सा. के आज्ञानुवर्ती परमपूज्य गुरुदेव गोड़वाड़ भूषण, स्वर्णसंत, ज्ञानप्रभाकर, विद्वान साहित्यकार बडे भैया आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय जयानंद सूरीश्वरजी म.सा., कार्यदक्ष मुनि श्री जयकिर्ती विजयजी म.सा., सेवाभावी मुनि श्री दिव्यांश विजयजी म.सा. एवं शासन रत्ना, तपोनिष्ठ साध्वी अमितगुणाश्रीजी म.सा. (माताजी म.सा.), साध्वी श्री पीयूषपूर्णा श्रीजी म.सा., साध्वी श्री प्रशांतपूर्णाश्रीजी म.सा. की पावन निश्रा में चातुर्मास के दौरान धर्म लहर चल रही है प्रतिदिन गुरुदेव के प्रवचन में छत्तीस कौम के लोग भी भारी संख्या में उपस्थित रहकर धर्म आराधना में भाग ले रहे हैं, चार्तुमास बडी ही भव्यतापूर्वक चल रहा है। जिसके अन्तर्गत नित नए अनेकानेक आयोजन हो रहे है। चातुर्मास में आयोजित कार्यक्रमों को सफल बनाने के लिए ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री उगमराज तलेसरा, उपाध्यक्ष श्री रतनचंद संचेती, सेके्रटरी रमेशकुमार पुखराजजी तेलीसरा, ट्रस्टी श्री अजित लोढ़ा, संजय उगमराज सेमलानी, संघ के वरिष्ठ सदस्य श्री लालचंदजी संचेती, श्री घिसुलाल सेमलानी, श्री मांगीलाल पुनमिया, श्री बाबुलाल लोढ़ा, श्री घिसुलाल संचेती, श्री संजय सेमलानी, श्री कांतिलाल धोका, श्री केवलचंद धोका, श्री बाबुलाल पुनमिया (मंचर), श्री फतेचद लोढ़ा, श्री रमेश संचेती, श्री उगमराज सेमलानी, श्री चन्दन एस. तलेसरा, श्री रमेश लोढ़ा चार्तुमास के मुख्य लाभार्थी श्री महावीर पुनमिया, श्री कपूरचंद पारेख, श्री चन्दन एच. तलेसरा, श्री माणेकचंद सोनीगरा, श्री हेमराज संचेती, श्री महेन्द्र तलेसरा, श्री रितेश तलेसरा, श्री नितेश मेहता (मुनिमजी) सहित संघ के कई सदस्य लगातार जुटे हुए। संघ के सदस्य गुरुदेव सेवा का मौका छोडना नही चाहते हैं एवं चातुर्मास में कोई कोर कसर न रह जाए इसका पूरा ध्यान रख रहे है।

पेश है शताब्दी गौरव की आँखो देखी विशेष रिपोर्ट

Khod - Pavitra Granthपवित्र ग्रंथ वोहराया

चार्तुमास के अन्र्तगत पुज्य गुरुदेव श्री हरीभद्रसूरी द्वारा रचित ग्रंथ श्री धर्मबिंदु प्रकरण पवित्र ग्रंथ गुरुदेव को वोहराया गया। जिस पर आधारित प्रवचन गुरुदेव द्वारा किया जाएगा। ग्रंथ वोहराने का लाभ चार्तुमास के रजत स्तंभ के लाभार्थी श्री रमेशकुमार मीठालालजी संचेती परिवार द्वारा लिया गया। श्री नमिनाथ जैन संघ द्वारा लाभार्थी परिवार का बहुमान किया गया। इस धर्मसभा में पूज्य गुरुदेव के बाल सखा एवं श्री विजय आनन्द पत्रिका के संपादक श्री राघव पाण्डेय (रानी स्टेशन) विशेष रुप से उपस्थित थे उन्होंने खौड निवासीयों को चार्तुमास की बधाई दी। श्री संघ द्वारा उनका बहुमान किया गया।

Khod - Pratham Sakranti Bhavya Rup1प्रथम सक्रांति भव्य रुप से संपन्न

खौड गांव में चार्तुमास के अन्तर्गत प्रथम जुलाई महीने की संक्राति भव्य रुप से संपन्न हुई। आचार्य श्री जयानंद सूरीश्वरजी (भोलेबाबा) म.सा. ने संक्राति के महत्व को समझाते हुए धर्म की आराधना को करने को कहा। धर्म सभा को मुनि श्री जयकिर्ती विजयजी म.सा., मनि श्री दिव्यांश विजयजी म.सा. ने भी संबोधित किया। प्रथम संक्राति के लाभार्थी स्व. भुरीबाई प्रतापमलजी संचेती के दिव्याशीष से श्री लालचंदजी, श्री घीसूलालजी, श्री रतनचंदजी, श्री अशोक, श्री मदन, श्री रवीन्द्र, श्री जितेन्द्र, श्री संजय एवं श्री आशीष संचेती परिवार थे। श्री संघ द्वारा लाभार्थी परिवार का बहुमान किया गया।

 

Khod - Gurupurnimaगुरुपुर्णिमा पर विशेष आयोजन

गुरुपुर्णिमा के उपलक्ष्य में विशेष कार्यक्रम (गुरुवधामणा) पूज्य गुरुदेव के चरणों का प्रक्षालन, वाक्षेप गुरुपादुका पूजन एवं प्रात: स्मरणीय गुरु वल्लभ की आरती, मंगलदीपक कार्यक्रम संपन्न हुआ। गुरुचरण प्रक्षालन के चढ़ावे का लाभ चातुर्मास के मुख्य लाभार्थी परिवार श्रीमती शांतिबाई घेवरचंदजी पुनमिया परिवार के श्री महावीर पुनमिया, श्री जितेन्द्र पुनमिया द्वारा लिया गया। नमिनाथ जैन संघ द्वारा लाभार्थी परिवार का बहुमान किया गया। इस अवसर पर विधायक श्री मदन राठौड विशेष रुप से उपस्थित थे। उन्होंने गुरुदेव के दर्शन कर आर्शिवाद लिया। श्री संघ द्वारा विधायक श्री राठौड का बहुमान किया गया। गुरुदेव ने अपने ओजस्वी प्रवचन में गुरु और शिष्य के बिच रिश्ते को विस्तार पूर्वक समझाया। जीवन में सही दिशा गुरुदेव के सानिध्य में ही प्राप्त होती है।

khod - anukampa divasअनुकम्पा दिवस:

प. पू. पंजाब केसरी आ.भ. श्रीमद् विजय वल्लभ सूरि जी म. सा के समुदाय के वर्तमान गच्छाधिपति शांतिदूत आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय नित्यानंद सूरीश्वर जी म. सा का ५९वां जन्म दिवस (अनुकम्पा) दिवस के रुप में बड़े हर्षोलास के साथ मनाया गया। सर्वप्रथम प्रात: बड़े भैया – भोले बाबा एवं माता जी महाराज की प्रेरणा से जीवदया के अंतर्गत गुड़ चारा आदि पुरे ख़ौड गांव में सभी गौमाता को खिलाया गया। अनुकम्पा दिवस प्रवचन सभा में राजकीय उच्च माध्यमिक बालिका विद्यालय की सभी बच्चियों को नोट बुक्स पेन इतियादि वितरण किये गए। पुज्य भोले बाबा ने सभा में थोड़ा ध्यान लगा गुरुवर दौड़े दौड़े आएंगे भजन गा कर सभी का मन मोह लिया। मुनिराज जयकीर्ति विजय जी म.सा.,मुनिराज दिव्यांश विजय जी म.सा,साध्वी पियूषपूर्णा श्री जी म.सा.ने प्रासंगिक प्रवचन किया।

khod - Naminath Prabhu1नमिनाथ प्रभु का जन्म कल्याणक मनाया

गांव के मूलनायक भगवान श्री नमिनाथ प्रभु का जन्मकल्याणक भव्य स्नात्र महोत्सव के साथ मनाया गया। जिसमें मातापिता का चढ़ावा, श्री चन्दनमल सरेमलजी तेलीसरा सोधर्म इन्द्र इन्द्राणी का चढावा श्री रतनचंद प्रतापमलजी संचेती, एवं हरिण गमेशी देव की चढावा श्री रितेशकुमार गुणवंतराजजी तेलीसरा परिवार द्वारा लिया गया। आरती का लाभ श्री रमेशकुमार मिठालालजी संचेती, मंगल दिवा का लाभ श्री उगमराज गुलाबचंदजी सेमलानी एवं शांतिकलश का लाभ श्री हेमराज केसरीमलजी संचेती परिवार ने लिया। ज्ञात रहे कि ३८ वर्ष पूर्व प्रतिष्ठीत हुए नमिनाथ भगवान का जन्म कल्याणक प्रथम बार मनया गया।