तपागच्छाधिपति प.पू. आचार्य श्री प्रेमसूरीश्वरजी म.सा. की पावन निश्रा में चतुर्विघ संघ...

तपागच्छाधिपति प.पू. आचार्य श्री प्रेमसूरीश्वरजी म.सा. की पावन निश्रा में चतुर्विघ संघ को दिशा देने वाले निर्णयोकी पवित्र पुस्तक एवम् अष्टमंगल की मनभावक प्रतिकृतिओ का विमोचन

SHARE

मुंबई। पालिताणा में गत दिनों हुए ऐतिहासिक एवम् अभूतपूर्व तपागच्छीय श्रमण सम्मेलन में चतुर्विघ संघ को दिशा देने वाले निर्णयोकी पवित्र पुस्तक एवम् अष्टमंगल की मनभावक प्रतिकृतिओ का विमोचन तपागच्छाधिपति प.पू. आचार्य श्री प्रेमसूरीश्वरजी महाराज की शुभनिश्रामें  एवम् प.पू. आचार्य श्री वि. कुलचंद्र सूरीश्वरजी महाराज के मंगल वचनो के साथ 18 समुदायोके प्रतिनीधी श्रावको के करकमलो द्वारा सम्पन्न हुआ ।

इस पुस्तक का विमोचन पुरे देशमें सभी आचार्य भगवन्तो के  चातुर्मास  के मंगल प्रवेश के शुभ दिन किया जायेगा। इस शुभ अवसर पर सभी समुदायो की श्रावक समिति के प्रतिनिधि एवम् जैन संघो के वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित थे । पुस्तक का हिंदी एवम् ईंगलीश संस्करण भी शीघ्र प्रकाशीत होगा।