श्री शांतिनाथदादा गृह जिनालय की १०वीं वर्षगांठ एवं आचार्य श्री विमलसागरजी म.सा....

श्री शांतिनाथदादा गृह जिनालय की १०वीं वर्षगांठ एवं आचार्य श्री विमलसागरजी म.सा. के ५०वें जन्मदिवस पर राठौड़ परिवार द्वारा पंचान्हिंका महोत्सव का आयोजन

SHARE
click to enlarge

मुंबई। अंधेरी ओसिया हेरीटेज ४०२ में श्री शांतिनाथजी दादा गृह जिनालय की १०वीं वर्षगांठ पर पचाहिन्का महोत्सव का आयोजन एवं आचार्य श्री विमलसागर सुरीश्वरजी म.सा. का जन्मोत्सव भव्यरुप से मनाया गया। श्री चन्द्रप्रभु जैन देरासर से वाजते गाते भव्य सौमेया के साथ आचार्य श्री विमलसागर सूरीश्वरजी म.सा. का आगमन अंधेरी स्पोटर्स क्लब के तथास्तु गार्डन में हुआ। जहां पर नवकारसी के पश्चात गुरुदेव का ५०वां जन्म दिन मनाया गया एवं आचार्य श्री का प्रवचन हुआ। चन्द्रप्रभु देरासर में १८ अभिषेक के साथ संगीत, मेहंदी एवं गांव सांझी का आयोजन, घंटाकर्ण महावीर पूजन, अर्हतपूजन के साथ श्री शांतिनाथ दादा का ध्वजारोहण किया गया। सोने में सुहागा मुनि पद्मविमल सागरजी की दिक्षा के २६ साल पूर्ण होने पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इसके साथ ही कई धार्मिक आयोजन भी संपन्न हुये। संपूर्ण आयोजन के लाभार्थी श्रीमती प्यारीबाई भैरुलालजी राठौड़, श्रीमती चन्द्राबाई कस्तुरचंदजी राठौड़ परिवार के भबूतमलजी, जांवतराज, कमलेश, रितेश, भावेश, मनीष, लिंकेश, धनेश, भैरुलालजी रतनचंदजी राठौड परिवार घाणेराव निवासी (कंगन ज्वेलर्स-अंधेरी) परिवार थे। गुरुदेव के ५०वें जन्मोत्सव को महामहोत्सव बनाने में राठौड परिवार ने कोई कसर नही छोड़ी।