परिश्रम – निष्ठा व संस्कार से मारवाड़ी -गुजराती समाज संपन्न – डॉ....

परिश्रम – निष्ठा व संस्कार से मारवाड़ी -गुजराती समाज संपन्न – डॉ. लोकेश मुनि

SHARE

मुंबई। दुनिया में कहीं भी मारवाड़ी-गुजराती समाज संपन्न मिलेगा, क्योंकि मारवाड़ी-गुजराती समाज ने जीवन में परिश्रम, निष्ठा व संस्कार को आत्मसात किया। दादर पश्चिम स्थित शिवाजी नाट्य मंदिर में सामाजिक संस्था अखिल भारतीय मारवाड़ी-गुजराती मंच की ओर से मुंबई विभागीय मारवाड़ी-गुजराती एकता अधिवेशन व सम्मान समारोह में आचार्य डा. लोकेश मुनि ने उक्त बातें कही। उन्होंने आगे कहा कि अमेरिका में आज ६९ जैन सेंटर हैं, जो एक छत के नीचे मिलकर काम करते हैं, यही वजह है कि आज जैन समाज की आवाज व्हॉइट हाउस ही नहीं दुनिया के हर कोने में पहुंच रही है। किसी समय संसद में जैन समाज का अच्छा प्रतिनिधित्व था, मगर अब यह संख्या २ से ३ में सिमट गया है। हिन्दुस्थान में भी हमारी ताकत मजबूत होनी चाहिए। उन्होंने गुजरात राज्य की प्रशंसा करते हुए कहा कि गुजरात में नवरात्रि के दिनों में देर रात को भी अकेली महिला घूमती हैं, जबकि दिल्ली में जिस तरह के हादसे होते हैं, उससे मानवता शर्मशार हो जाती है। यह मुख्य रुप से संस्कार का ही असर है। हमें मिलकर आपस में चार कदम चल कर दूरी को खत्म कर सामाजिक एकता को मजबूत करने का प्रयास करना चाहिए। युवाओं से आव्हान किया कि आधुनिकता में भी परिश्रम, संस्कार व मानवीय मूल्यों को हमेशा आत्मसात करें। समारोह में विधायक राज के. पुरोहित, अरुण गुजराती, संजय वोरा, अजित वाघमारे आदि ने भी विचार रखे। इस अवसर पर संस्था की ओर से समाज में विशिष्ट कार्य करने वाले गणमान्य लोगों को समाज भूषण, समाज गौरव एवं समाज रत्न से सम्मानित किया गया।