लुधियाना से अम्बाला पूज्य उपाध्याय भगवंत की पावन निश्रा में श्री छ:...

लुधियाना से अम्बाला पूज्य उपाध्याय भगवंत की पावन निश्रा में श्री छ: ‘री पालित यात्रा संघ का सफल आयोजन, वर्षी तप पारणा महोत्सव सम्पन्न

SHARE

उद्योगपति ‘श्री कोमल जैन डयूक को संघवी पद से नवाज़ा गय

लुधियाना। श्रीमद् विजय धर्मधुरन्धर सूरीश्वर जी म.सा. के आज्ञानुवर्ती पूज्य उपाध्याय भगवंत श्री योगेन्द्र विजय जी म.सा. के वर्षी तप पारणा निमित्ते लुधियाना श्री संघ से छ:री पालित यात्रा संघ का दिनांक 1 मई 2016 को 150 पैदल यात्रियों के साथ पूज्य उपाध्याय आदि ठाणा की पावन निश्रा में गुरू इन्द्रदिन्न धाम अम्बाला के लिए हर्षोल्लास पूर्वक प्रयाण हुआ।

श्री आत्मानंद जैन सभा के अध्यक्ष भारतभूषण जैन भारती, कश्मीरी लाल जैन बरड़ सिकन्दर लाल जैन एडवोकेट, भूषण जैन कोठी वाले आदि महानुभावों ने यात्रा संघ के संघपति और मुख्य पारणा लाभार्थी श्री धर्मप्रकाश कमलावंती जैन परिवार के वंशज श्री कोमल कुमार जैन, कुंतल राज जैन, कंचन जैन, कीर्ति जैन, कायना जैन, कयान जैन वालों का पगड़ी, हार पहना कर तिलक लगा कर संघपति रूप में बहुमान किया। जैन उपाश्रय पुराना बाज़ार से प्रात: 5 बजे भव्य रथयात्रा के रूप में संघ प्रयाण हुआ, जिसमें बैंड, शहनाई वादक, भगवान की भव्य पालकी एवम् गुरू महाराज का गुरू इन्द्र रत्नाकर विहार रथ विशेष रूप से आर्कषण के केन्द्र रहे।

Komal Jain-duke1दिनांक 4 तारीख को यात्रा संघ श्री चक्रेश्वरी देवी तीर्थ सरहिन्द पहुंचा, जहां श्री भक्तामर महापूजन का आयोजन किया गया। सौरभ जैन मुन्हानी, अमित जैन टोरी, पवन जैन सोनू आदि गायकों ने मधुर भजन गायन करके श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। सारा विधि-विधान विजय वल्लभ सेना उत्तरी भारत के जैन विधिकारक मण्डल ने करवाया। महापूजन का माण्डला श्री भगवत् आंगी मण्डल लुधियाना ने बनाया। दिनांक 8 मई को यात्रा संघ लुधियाना से अम्बाला पहुंचा, श्री छ:’री पालित संघ यात्रा के विजय इन्द्रदिन्नधाम पहुंचने पर अम्बाला श्रीसंघ की ओर से यात्रासंघ का अभूतपूर्व स्वागत किया गया। समारोह में पूज्य उपाध्याय भगवंत ने संघ माला विधान करवाया। और इस मध्य पूर्ण विधि विधान से संघपति श्री कोमल कुमार जैन को संघवी एवं धर्मपत्नी श्रीमति कंचन जैन को संघविन के अलंकरण से सुशोमिय किया, सकल श्री संघ ने अक्षत उछाल कर हर्षध्वनि से जयकारे लगाए। यात्रा संघ में आए हुए यात्रियों को उपहार देकर संघपति परिवार ने उन्हें सम्मानित किया। संघपति को संघमाला पहनाने तथा इन्द्र-इन्द्राणी द्वारा अक्षत वधावना का लाभ श्री कोमल कुमार जी के अनुज भ्राता श्री अनिल कुमार जैन-श्रीमति सुनीता रानी जैन ने प्राप्तकिया। इस अवसर पर श्री मनोज सिंघल (मै. एम.एम आटो, दिल्ली) भी विशिष्ट अतिथि रूप से गुरू चरणों में उपस्थित हुए, उन्होंने समाधि मन्दिर और गुरूकुल को अनुदान की घोषणा की।

दिनांक 9 मई 2016 को अक्षय तृतीया के पावन दिवस उपाध्याय श्री योगेन्द्र विजय जी महाराज के दूसरे वर्षी तप का पारणा महोत्सव पूर्वक सम्पन्न हुआ। मुख्य रूप से पारणा करवाने का लाभ, पूज्य उपाध्याय जी को काम्बली बहोराने का लाभ श्री धर्म प्रकाश कमलावंती जैन के वंशज श्री कोमल कुमार जैन, कुंतलराज जैन, कंचन जैन, कीर्ति जैन, कयान जैन कायना जैन परिवार, मै. ड्यूक फैशन्ज़ इण्डिया ने प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त 107 श्रेयांस कुमारों ने क्रमबद्ध होकर पूज्य श्री को इक्षुरस के पारणा करवाया। पारणा महोत्सव के पावन अवसर पर श्री सुरेश जी पाटनी ने गुरूवर रत्नाकर सूरि जी को स्मरण करते हुए भजन प्रस्तुत किया। इस पावन अवसर पर श्री राजकुमार जैन जालन्धर चेयरमैन, श्री सुशील जैन चंडीगढ़ अध्यक्ष श्री आत्मानन्द जैन महासभा उत्तरी भारत, श्री भारतभूषण जैन अध्यक्ष श्री आत्मानन्द जैन सभा लुधियाना, श्री कश्मीरी लाल जैन बरड़ संरक्षक लुधियाना श्रीसंघ, श्री रविनन्दन जैन कार्यकारी अध्यक्ष महासभा, श्री यशपाल जैन अध्यक्ष श्रीसंघ अम्बाला, श्री सतीश कुमार जैन अध्यक्ष श्री विजय इन्द्रदिन्न चैरिटेबल ट्रस्ट अम्बाला, श्री विनोद जैन सी.एच.ई. वरिष्ठ उपाध्यक्ष लुधियाना श्रीसंघ, श्री नेमचन्द जैन रायकोट वाले उपाध्यक्ष लुधियाना श्रीसंघ, श्री सिकन्दर लाल जैन एडवोकेट, श्री श्रीपाल जैन जालन्धर, श्री सुरेश जैन पाटनी, श्री भूषण जैन कोठी वाले श्री अश्विनी जैन जालन्धर, श्री पंकज जैन जालन्धर महामंत्री महासभा, डॉ. सुरेश जैन चण्डीगढ़, श्री अनुराग जैन दिल्ली, श्री सतीश जैन दिल्ली, श्री गुलशन जैन, श्री पद्म जैन दिल्ली आदि महानुभाव उपस्थित थे।

यात्रासंघ को सफल बनाने के लिए जैन सभा लुधियाना की महोत्सव कमेटी के संदीप जैन, सुनील जैन, नीरज जैन, विकास जैन, विशाल जैन तथा भोजन समिति के श्री बालकृष्ण जैन, श्री चन्द्रकिरण जैन, डिम्पल जैन, मनोज जैन एवम् वैयावच्च समिति की श्रीमति कमलेश जैन का उल्लेखनीय योगदान रहा।