मनोज शोभावत परिवार द्वारा राष्ट्रसंत आचार्य श्री चंद्राननसागर सूरीश्वरजी म.सा. की पावन...

मनोज शोभावत परिवार द्वारा राष्ट्रसंत आचार्य श्री चंद्राननसागर सूरीश्वरजी म.सा. की पावन निश्रा में भायखला की धर्मधरा पर महामांगलिक का आयोजन संपन्न

SHARE

मुंबई। भायखला की पुण्य धर्मधरा पर प. पु. राष्ट्रसंत आचार्य श्रीमद् विजय चन्द्राननसागर सुरीश्वरजी म.सा  की निश्रा मे आयोजित महामांगलीक का लाभ नाकोड़ा दरबार मंडल लालबाग के संस्थापक अध्यक्ष श्री मनोजभाई शोभावत परिवार ने लेकर जीनशासन की शोभा मे अभिवृद्धी की बालमुनी मननचन्द्रसागरजी म.सा.(साँसारीक नाम शुभम) के धर्मपिता मनोजभाई ने उनके दिक्षा के छ: वर्ष पूर्ण होने तथा पोत्र हिँयाश के जन्मोत्सव निमित्त इस महामाँगलीक का लाभ लिया तकरीबन दो हजार गुरुभक्तो की स्वामी भक्ति का उन्हे उत्कृप्ट लाभ मिला। इस कार्यक्रम मे हाल ही मे साऊथ अफ्रिका मे जैनम जंयति शासनम की गुँज गुँजायमान करने वाले सुप्रसिद्ध संगीतकार त्रिलोक भोजक ने अपनी संगीत की सुमधुर सुरावलीयो से संगीत का जोरदार शमा बाँधा मंचसंचालक ललित परमार के ओजस्वी संचालन से सजा यह कार्यक्रम नई ऊँचाईयो को छू गया। समारोह मे विधायक राज के. पुरोहित, मिरा भाईन्दर की महापौर गीता जैन, शताब्दी गौरव के प्रधान संपादक सिद्धराज लोढ़ा व तारक मेहता का उल्टा चश्मा के संयम उर्फ गोगी की उल्लेखनीय उपस्थिती रही इस अवसर पर बालमुनी मननचन्द्रसागरजी म.सा. ने धारदार प्रवचन से सब भक्तो को स्तब्ध कर दिया गुरुदेव चन्द्राननसागर सुरिश्वरजी म.सा.ने अपने अस्वस्थ होते हुऐ भी व्याख्यायन दिया व महामंगलिक सुनाया उन्होने मनोजभाई शोभावत को शासन का लाल बताते हुऐ उनके धार्मिक सुकृत्यो की अनुमोदना की इस अवसर पर मनोजभाई शोभावत ने कहाँ कि मुझे ऐसे गुरु की शरण मिली है जिन्होने मेरे जीवन की दशा और दिशा बदलकर शासन हेतु समर्पित कर दिया उनका बहुमान नाकोड़ाधाम ट्रस्ट मंडल व श्री मोतीशा जेन चेरीटेबल ट्रस्ट मंडल द्धारा किया गया। श्री मनोजभाई के इस सुन्दर सुकृत्य की सभी ने भूरी-भूरी प्र॓शसा की शोभावत परिवार द्धारा गुरुभगवंतो को काँबली अर्पण की गई व स्वामी वात्सलय भी रखा गया।