श्रीमती हंजाबाई गौशाला पांजरापोल केन्द्र बेड़ा का २९३ वा शिविर सम्पन्न

श्रीमती हंजाबाई गौशाला पांजरापोल केन्द्र बेड़ा का २९३ वा शिविर सम्पन्न

SHARE

कोरटा। अरावली की घाटीयों में रमणीय वातावरण में कोरटा जैन तीर्थ के प्रांगण में ३ दिवसीय विशाल नि:शुल्क पशु-पक्षी शल्य चिकित्सा शिविर नाकोडा दरबार मंडल (लालबाग) मुंबई के सौजन्य से शिविर के लाभार्थी गिट्स मॉल मुंबई के द्वारा आयोजित किया गया। शिविर में नाकोडा दरबार मंडल के सदस्य भरत फागणीया, राजेश जैन एवं विनय शोभावत अपनी धर्म पत्नी के साथ शिविर में पधारे। कोरटा तीर्थ के मेनेजर अशोक भाई एवं गांव के ठाकूर साहेब गजेन्द्र सिंह जी प्रधानाचार्य शिविर में पधारे। अतिथियों द्वारा भगवान का दिप प्रज्वलीत किया गया एवं गौमाता की पुजा अर्चना की गई। संस्था के अध्यक्ष हस्तीमल जैन ने एवं शिविर संयोजक इन्दरमलजी मुठलीया ने साफा, माला व तिलक से अतिथियों का स्वागत किया गया। श्रीमान प्राधानाचार्य गजेन्द्र सिंह ने अपने शब्दो में कहा जैन समाज अपनी मातृभूमी के लिए सदैव अग्रणी रहा है। गांव-गांव में स्कुल, अस्पताल, धर्मशाला एवं मानव सेवा के कार्य में हमेशा योगदान दे रहा है। अपनी कर्मभूमी में कमाकर मातृभूमी में खर्च करते हैं। गौशाला के अध्यक्ष हस्तीमल जैन ने भगवान महावीर का संदेश जीओ और जीने दो, अहिंसा परमो धर्म अपने जीवन में अपनाने का संकल्प दिया। जैन धर्म का मुल पाया ही जीवदया पर टीका हुआ है। शिविर में २७३२ पशुओं की सेवा करने का मौका मीला जिसमें १४ शल्य चिकित्सा, ३ गायों के कमेडी (हार्न कैन्सर) के आपरेशन, ४ ऊंटों की शल्यक्रिया, ५ बकरीयों में शल्य चिकित्सा, २ घोडो की शल्य चिकित्सा। २८२ ऊंटों में, ३५ स्वान (कुत्तो), ७२ गायों की, १०२ भैस को सामान्य चिकित्सा एवं मोसमी टिकाकरण की गई।