श्री आनंदधाम जैन तीर्थ घसोई, सुवासरा (मध्य प्रदेश) में चतुर्थ ध्वजारोहण...

श्री आनंदधाम जैन तीर्थ घसोई, सुवासरा (मध्य प्रदेश) में चतुर्थ ध्वजारोहण पर त्रिदिवसीय रत्नत्रयी महोत्सव की विशिष्ट झलकियाँ

SHARE

श्री जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक तपागच्छ संघ आनंदधाम ट्रस्ट-घसोई के तत्वाधान में तृतीय ध्वजारोहण पर त्रिदिवसीय रत्नत्रयी महोत्सव का आयोजन परम पूज्य आचार्य भगवंत विजय ह्रिंकारसूरीश्वरजी म.सा. की दिव्य आशिष, श्री आनंदधाम तीर्थ के शिल्पकार, तीर्थ के मार्गदर्शक मालव शिरोमणी एवं कोंकण सम्राट आचार्य श्री हर्षसागरसूरीश्वरजी म.सा. के मार्गदर्शन में एवं सागरानंदसुरि समुदायवर्तनी मालव देश दिपीका प.पू. मनोहर – इन्दुश्रीजी म.सा. की शिष्या, प्रवचन शिरोमणि प.पू.सा. कुसुमश्रीजी म.सा., प.पू.सा. चंद्ररत्नाश्रीजी म.सा. एवं प.पू.सा. श्री रत्नत्रयाश्रीजी म.सा. की सुशिष्या प.पू.सा. रम्यगुणाश्रीजी म.सा., प.पू. अमितज्ञाश्रीजी म.सा., प.पू. सिद्धरत्नाश्रीजी म.सा. प.पू. श्रुतज्ञाश्रीजी म.सा., प.पू. सिद्धनेहाश्रीजी म.सा., प.पू. सिद्धरेहाश्रीजी म.सा. आदि ठाणा की पावन निश्रा में संपन्न हुआ। जिसमें प्रथम दिन प्रात: पंचकल्याणक पूजा, द्वितीय दिन श्री बृहदनंद्यावर्त महापूजन एवं तृतीय दिन सतरभेदी पूजा एवं ध्वजा रोहण महोत्सव विधि विधान से संपन्न हुआ।

श्री चिंतामणी पाश्र्वनाथ भगवान की ध्वजारोहण श्रीमती तक्तोबाई जुगराजजी राठौड़ के सुपुत्र खुबीलाल, विमलचंद, पौत्र राजेश राठौड, मोहित राठौड एवं सुमित राठौड (फ्लेयर पेन गु्रप), परिवार मुंबई द्वारा किया गया। ज्ञात रहे कि तीर्थ विकास में बदामिया राठौड़ परिवार का अहम योगदान हैं। तीनों दिन सुबह की नवकारसी, दोपहर का स्वामीवात्सल्य सभी ध्वजारोहण महोत्सव के लाभार्थी परिवारों द्वारा किया गया। मध्यप्रदेश वित्त आयोग के अध्यक्ष हिम्मतजी कोठारी मुख्य अथिति थे। इस समारोह में विधिकारक जयेशभाई (बोरसदवाले), एवं संगीतकार श्री प्रभुलाल एण्ड पार्टी घसोई, सुवासर ने अपनी रमझट जमाई।