वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश दुबे ‘आचार्य तुलसी सम्मान’ से सम्मानित

वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश दुबे ‘आचार्य तुलसी सम्मान’ से सम्मानित

SHARE

मुंबई। भारत एक लोकतांत्रिक देश है, जिसे आगे बढ़ाने में लोक यानी जनता की अहम भूमिका होती है। अपने अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति जनता जितनी जागरूक होगी, हमारा लोकतंत्र उतना ही मजबूत होगा। देश के विकास के लिए हमारे लोकतंत्र की मजबूती भी जरूरी है। आचार्य तुलसी महाप्रज्ञ विचार मंच की ओर से आयोजित ’12वें आचार्य तुलसी सम्मान समारोहÓ को संबोधित करते हुए यह बात गुजरात के राज्यपाल ओपी कोहली ने कही। कांदिवली में आयोजित सम्मान समारोह में राज्यपाल के हाथों इस साल का प्रतिष्ठित ‘आचार्य तुलसी सम्मानÓ एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के महासचिव वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश दुबे को प्रदान किया गया। समारोह में जैन साधु-साध्वीयों के अलावा उद्योग-व्यापार, समाज सेवा क्षेत्र से जुड़े लोगों के साथ ही बड़ी संख्या में साहित्यकार और पत्रकार भी मौजूद रहे। समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी शिरकत करनेवाले थे। लेकिन नई दिल्ली में चल रही भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक से जुड़ी व्यस्तता के चलते वह कार्यक्रम में नहीं पहुंच पाए, उन्होंने मोबाइल फोन के जरिए समारोह को संबोधित किया। महाराष्ट्र के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने कहा कि हमें देश प्रेम से समझौता किए बिना राष्ट्र के विकास के लिए काम करना चाहिए। आचार्य महाश्रमण की विदुषी शिष्या साध्वी श्री सरस्वती और साध्वी सोमलता ने कहा कि अहिंसा परमो धर्म: के दर्शन पर आधारित जैन धर्म के सिद्धांत पर अमल के जरिए विश्वशांति का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। इन्होंने कहा कि ऋ षि-मुनियों ने एक समृद्ध विरासत हमारे लिए छोड़ी है, जिसका लाभ आज की युवा पीढ़ी सर्वांगीण विकास के लिए उठा सकती है।

समारोह में पत्रकार जगदीशचंद्र, नंदकिशोर नौटियाल, विश्वनाथ सचदेव, शचींद्र त्रिपाठी और सम्मानमूर्ति प्रकाश दुबे ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन अवधेश व्यास ने किया। आचार्य तुलसी महाप्रज्ञ विचार मंच के अध्यक्ष राजकुमार पुगलिया ने आमंत्रित अतिथियों का स्वागत किया। साथ ही आचार्य तुलसी-महाप्रज्ञ विचार मंच द्वारा दिए जाने वाले आचार्य तुलसी सम्मान की शुरुआत एवं उसके उद्देश्य पर प्रकाश डाला।