श्री मोहनखेडा मण्डल द्वारा गुरु सप्तमी यात्रा का भव्य आयोजन

श्री मोहनखेडा मण्डल द्वारा गुरु सप्तमी यात्रा का भव्य आयोजन

SHARE

मोहनखेडा मण्डल द्वारा गुरु सप्तमी मेले का ३ दिवसीय कार्यक्रम बडे ही धुमधाम से सम्पन्न हुआ। इस वर्ष मोहनखेडा -बिबडोद तीर्थ-जावरा-रोजाना-करमन्दी-भोपावर-नागेश्वर तीर्थ के दर्शन का कार्यक्रम रखा गया था। प्रति वर्ष सदस्यों का इसी गरु सप्तमी मेले में जाने का इन्तजार रहता है। जब जब तारीख नजदीक आती है। सदस्यों की खुशी का ठिकाना नहीं रहता है। यह यात्रा ट्रेन में गुरुदेव की आरती के साथ शुरु होती है। जो अंत में एक दूसरे की ऑखो में गम के आसुओं से विदाई होती है। सचिव किर्ती पोरवाल पाली ने नागेश्वर तीर्थ में मिटींग का संचालन किया कार्यक्रम की शुरुआत नवकार मंत्र और दिप प्रज्वलित करके की गई। इस बार के मुख्य अतिथी महेन्द्रकुमारजी चन्दनमलजी तीखी (नाकोडाजी) निवासी थे। जिसका मण्डल अध्यक्ष ने साफा हार तिलक से बहुमान किया गया और उनके सम्मान में परिचय को संगीत पेरोडी में छगन परमार और धिरज खुडाला निवासी ने सुनाकर सभी को खुब हंसने को मजबूर कर दिया। साथ ही महिपाल सुकनराज जी बाली और मुनिसुव्रत स्वामी मन्दिर थाणा के ट्रस्टी वसंतकुमार छोगमलजी सादडी निवासी का भी बहुमान किया गया। महिपाल ने सभी को सम्बोधित करते हुए मण्डल के सदस्यों की एकता और दूसरे की मिलनसार की भावना को देखते हुये सभी का आभार प्रगट किया गया। अध्यक्ष पारसमल धनराजजी पारेख नाडोल निवासी ने भी मण्डल के सदस्यों का धन्यवाद दिया गया। और कहा कि आप हमे समय समय पर सहयोग देते रहे। गुरुदेव की कृपा से सभी काम पूरे होते है। अगस्त महीने में बच्चों को बुक एवं बैग वितरण में भी सहयोग की भावना से काम करने के लिये प्रेरीत किया गया।

इस सम्पूर्ण कार्यक्रम को सफल बनाने में जयन्तीलाल पुनमिया, रमन सी.अम्बालाल, अशोक सी. कोठारी को भी धन्यवाद दिया गया। जिनके सहयोग से यात्रा को अविस्मरणीय यादगार के रुप में याद किया जायेगा। केटरींग की सुन्दर व्यवस्था जैन केटरींग की सुनिता भाभी ने बहुत ही लजीज खान पान की व्यवस्था की।