श्री सुमेर तीर्थ / Shree Sumer Tirth: A tirth with Jain temple,...

    श्री सुमेर तीर्थ / Shree Sumer Tirth: A tirth with Jain temple, but where no Jain family stays

    SHARE

    श्री सुमेर तीर्थ / Shree Sumer Tirth:

    पाली जिले में ऐसे अनेक जैन तीर्थ हैं जहां मंदिर तो है लेकिन वहां जैन एक भी नहीं है, उसी प्रकार का एक तीर्थ सुमेर भी है जो प्राचीन और चमत्कारी होने का श्रेय तो रखता है लेकिन एकान्त में होने के कारण यहां भक्तों की भीड़ नहीं रहती। कहते हैं कि कभी यहां जैनों ने एक हजार से अधिक परिवार निवास करते थे लेकिन लुटेरों के आतंक से तंग आकर वे अपना गांव छोड़ अन्य गांवों में जाकर बस गये। कहते हैं कि जैनों में नाहरों का उद्गम स्थान सुमेर ही है जो आज सभी क्षेत्रों में बसे हुए हैं। प्राचीन सुमेर उजड़ गया। जिसके खण्डहर आज भी खुदाई में मिलते हैं। मगर जब आक्रांताओं ने सुमेर के जैन मंदिर को लूटा तथा उसे तोड़ा तब तब इस क्षेत्र के श्रावकों ने इसका जीर्णोद्धार करवाया, जिससे यह तीर्थ आज भी आबाद है। परंतु अब इस तीर्थ के प्राचीन अवशेष बहुत कम दिखाई दे रहे हैं। सुमेर के जैन मंदिर में शांतिनाथ भगवान की आकर्षक प्रतिमा स्थापित है। इस मंदिर को कब और किसने बनाया इसके स्पष्ट प्रमाण नहीं मिल रहे हैं परंतु यहां लगे एक शिलालेख से अनुमान लगाया जा सकता है कि इसका निर्माण संवत् १२३४ में हुआ होगा। यही इस तीर्थ की प्राचीनता का प्रमाण है।