श्री खीमेल तीर्थ / Shree Khimel Tirth : Nearly 75 cms. high,...

    श्री खीमेल तीर्थ / Shree Khimel Tirth : Nearly 75 cms. high, white – colored, parikarayukta idol of Bhagawan Shantinath the Padmasana posture.

    SHARE

    श्री खीमेल तीर्थ / Shree Khimel Tirth

    खीमेल गांव भी गोडवाड क्षेत्र का प्राचीन व जैन समाज की घनी आबादी वाला गांव है। यहां तीन जैन मंदिर हैं, जिसमें सबसे प्राचीन मंदिर गांव के पूर्वी किनारे नदी तट पर स्थित है, जिसमें मूल नायक भगवान श्री शांतिनाथजी हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण वि. सं. ११४९ में लीलाशाह ओसवाल द्वारा करवाया गया था। मूलनायक भगवान के परिकर की कला दर्शनीय है। शांतिनाथ भगवान की प्रतिमा पर उत्कीर्ण लेख से ज्ञात होता है कि उसकी अंजनशलाका सं. ११३४ वैशाख शुक्ला १० को हेम सूरीजी द्वारा हुई थी। इसी मंदिर में एक अन्य प्रतिमा की प्रतिष्ठा श्री विजयसेन सुरिजी द्वारा सं. १६५३ में होने का उल्लेख है। इस मंदिर के गर्भ द्वार के पास एक बड़ी काउस्सगय मुद्रा में प्राचीन प्रतिमा स्थापित है जो कि आकर्षक होने के साथ ही कलापूर्ण है। मंदिर के रंगमंडप व गूढ़मंडपकी शिल्पकला दर्शनीय है और बाहर द्वार पर दो हाथी इसकी शोभा बढ़ा रहे हैं। खीमेल का दूसरा जैन मंदिर गांव के बाहर स्थित है। इस बावन जिनालय वाले भव्य मंदिर का निर्माण वि. सं. १९२० में सेठ श्री खूमजी गदैया की धर्मपत्नी नगीबाई ने करवाया था। एक महिला को मंदिर निर्माण की प्रेरणा कैसे प्राप्त हुई इसकी जानकारी तो उपलब्ध नहीं है कितु कहते हैं कि नगीबाई को एक स्वप्न के द्वारा मंदिर बनाने की इच्छा जागृत हुई। नगीबाई ने अपनी मेहनत व लगन से गांव के जैन संघ तथा अन्य संघों से भी धन एकत्रित करके मंदिर निर्माण का संकल्प पूरा किया। वि. सं. १९२८ में यहां मूलनायक भगवान ऋषभदेव की श्यामवर्णी प्रतिमा स्थापित कर दी गई थी जबकि मंदिर की केवल १४ देहरियों का ही निर्माण हुआ था और वि. सं. १९५८ में मंदिर का प्रतिष्ठा समारोह आयोजित किया गया। इस समारोह में भाग लेने के लिए अपार जनसमूह उमड़ पड़ा था। खीमेल गांव के बाहर नदी के किनारे मेहता मोकमसिह द्वारा निर्मित एक विशाल बावडी के पास ही श्री विजय राजेन्द्र सूरीजी का समाधि मंदिर भी विद्यमान है। खीमेल में पावापुरी का एक मंदिर का निर्माण हुआ जो दर्शनीय है। यहां तीर्थ यात्रियों के लिए सुविधायुक्त धर्मशाला भी है। खीमेल गांव रानी स्टेशन से ६ कि.मी. की दूरी पर स्थित है।