Shri Falavruddhi Parshvnath Tirth /Merta Tirth /Medta Tirth : Nearly 105 cms....

    Shri Falavruddhi Parshvnath Tirth /Merta Tirth /Medta Tirth : Nearly 105 cms. high, black – colored idol of Bhagawan Falvruddhi Parsvanath in the Padmasana posture.

    SHARE

    श्री फलवृध्दि पार्श्वनाथ तीर्थ/ Shri Falavruddhi Parshvnath Tirth /Merta Tirth /Medta Tirth

    तीर्थाधिराज : श्री फलवृध्दि पार्श्वनाथ भगवान
    तीर्थ स्थल : मेडता रोड स्टेशन से लगभग 200 मीटर दूर गांव में।
    विशिष्टता : श्री जिनप्रभ सूरीश्वरजी ने चौदहवीं शताब्दी में रचित विविध तीर्थ कल्पय में इस तीर्थ के दर्शन करने से अडसठ तीर्थों के दर्शन का लाभ होना बताया है। इस वर्णन का कुछ न कुछ रहस्य अवश्यमेव होगा। इस कल्प में यह भी बताया है कि यहां गोपालक श्री धांधल श्रेष्ठी की एक गाय दूध नहीं देती थी। गौ- चरवाहे द्वारा उसकी जांच करने पर पता लगा कि एक टींबे के पास पेय्ड के नीचे गाय के स्तनों से दूध हमेशा झर जाता है। वह वृत्तांत सेठ से कहा। सेठ को स्वप्न में अधिष्ठयकदेव ने बताया कि जहां दूध झरता है वहां देवाधिदेव श्री पार्श्वनाथ प्रभु की सप्तफणी प्रतिमा है। प्रयत्न करने पर वहां से प्रकट होगी, जिसे मंदिर का निर्माण करवाकर प्रतिष्ठित करवाना।
    अन्य मंदिर : वर्तमान में इस मंदिर के पास ही एक मंदिर और एक दादावाडी है।
    कला और सौन्दर्य : प्राचीन प्रभु-प्रतिमा अति ही सुन्दर, चमत्कारी साक्षात् है। भावपूर्वक वन्दन मात्र से आकाक्षाएं पूर्ण होती हैं। यहां पार्श्वनाथ भगवान व महावीर भगवान के भवपट्ट व अन्य पट्ट कलात्मक ढंग से बनाये हुए हैं।
    मार्गदर्शन : यहां से नजदीक का स्टेशन मेड़ता रोड जंक्शन 1-4 कि.मी. दूर है। स्टेशन पर सवारी का साधन उपलब्ध है। मेड़ता सिटी यहां से लगभग 15 कि.मी. दूर है। जोधपुर, मेड़ता सिटी व नागौर से सीधी बसें मिलती है। मंदिर तक पक्की सड़क है, कार व बस आखिर तक जा सकती है। यहां के लिए दिल्ली, जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, पंजाब, जम्मू, मुंबई, अहमदाबाद व कलकत्ता से रेल व्यवस्था है।
    सुविधाएं : ठहरने के लिए मंदिर के अहाते में ही सर्व सुविधायुक्त विशाल धर्मशाला है, जहां पर भोजनशाला सहित सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं।
    पेढ़ी : श्री फलवृध्दि पार्श्वनाथ तीर्थ ट्रस्ट,
    पोस्ट : मेडता रोड – 341511
    जिला : नागौर, प्रांत : राजस्थान